Video: ये है छत्तीसगढ़ की उडऩपरी भिनेश्वरी, गरीब माता-पिता की बेटी फटे जूते पहनकर कर रोज बहाती है मैदान में पसीना

बालोद जिले के ग्राम मनोद की उडऩपरी 20 वर्षीय नेशनल एथलेटिक्स खिलाड़ी भिनेश्वरी इन दिनों गरीबी व लाचारी में जीवन जीने को मजबूर है।

By: Dakshi Sahu

Published: 03 Apr 2021, 07:44 PM IST

Balod, Balod, Chhattisgarh, India

बालोद. एथलेटिक्स में राज्य और राष्ट्रीय प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करने वाली बालोद जिले के ग्राम मनोद की उडऩपरी 20 वर्षीय नेशनल एथलेटिक्स खिलाड़ी भिनेश्वरी इन दिनों गरीबी व लाचारी में जीवन जीने को मजबूर है। युवा खिलाड़ी स्पोट्र्स शूज के लिए भी तरस गई है। 11 स्टेट और 10 राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग ले चुकी भिनेश्वरी ने कई गोल्ड मेडल भी जीता है। सरकार की अनदेखी के कारण इस होनहार खिलाड़ी को गरीबी में गांव से लगे ग्राम जुगेरा के मैदान में फटे जूते पहनकर प्रैक्टिस करना पड़ रहा है। भिनेश्वरी का सपना है वह देश के लिए ओलंपिक खेले। लगातार अच्छा प्रदर्शन करें लेकिन आर्थिक सहयोग के अभाव में उसके सपने टूटने लगे हैं। देखिए खाास रिपोर्ट बालोद रिपोर्टर सतीश रजक के साथ

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned