सीटों की दी गलत जानकारी, बच्चे हो गए शिक्षा के अधिकार से वंचित

दल्लीराजहरा मेंं संचालित डीएवी इस्पात सीनियर सेकंडरी पब्लिक स्कूल मेंं बीपीएल की बची सीटों पर नियम विरूद्ध सामान्य सीटों की तरह बच्चों की भर्ती ले ली गई है।

बालोद/दल्लीराजहरा. नगर मेंं संचालित डीएवी इस्पात सीनियर सेकंडरी पब्लिक स्कूल मेंं बीपीएल की बची सीटों पर नियम विरूद्ध सामान्य सीटों की तरह बच्चों की भर्ती ले ली गई है। मामला उजागर होने के बाद प्रबंधन ने सवाल पर झूठी जानकारी दे रहा है। ऐसा कर गरीब बच्चों को शिक्षा के अधिकार से वंचित कर दिया गया है। जबकि स्कूल में शासन की निर्धारित सीटों के तहत 30 में से केवल 18 सीटों पर ही दाखिला दिया है।

सीटों के बंदरबाट की शिकायत के बाद जांच के आदेश
ज्ञात रहे यही स्थिति पिछले साल थी। शिकायत के बाद डीईओ और बाल संरक्षण आयोग के आदेश पर बची सीटों पर बच्चों को दाखिला दिया गया था। इस बार सीटों के बंदरबाट की शिकायत मिलने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने विकासखंड शिक्षा अधिकारी डौंडी को मामले में उल्लेखित विषयों पर बिंदुवार जांच करने कहा है। सात दिवस के भीतर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय मेंं जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने निर्देशित किया गया है।

शिकायत पर एसडीएम से डीईओ से मांगी रिपोर्ट
गौरतलब हो कि नगर मेंं संचालित डीएवी इस्पात सीनियर सेकंडरी पब्लिक स्कूल मेंं बीपीएल श्रेणी के बच्चों के लिए 30 सीटें आरक्षित हैं जिनमें से अब तक 18 सीटों पर ही प्रबंधन द्वारा इस श्रेणी के बच्चों को प्रवेश दिया गया है। इस संबंध में पत्रिका ने 12 जुलाई को प्रमुखता के साथ खबर प्रकाशित किया था। भारतीय जनता पार्टी के जिला महामंत्री मुस्ताक अहमद अंंसारी ने शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत इस स्कूल में बीपीएल के बचे हुए सीटों पर नियम विरूद्ध भर्ती पर शिकायत डौंडीलोहारा के अनुविभागीय अधिकारी से की थी। जिस पर एसडीएम कार्यालय के माध्यम से शिक्षा अधिकारी को शिकायत पत्र मिला था।

डौंडी ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कर रहे जांच
स्कूल में बीपीएल के बची हुई सीटों पर नियम विरूद्ध सामान्य श्रेणी के बच्चों को प्रवेश देने के साथ ही पिछले तीन सत्र के फीस की स्पष्ट जानकारी कक्षावार प्रदान करने की मांग की गई थी। जिस पर कार्यवाही करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी ने विकासखंड शिक्षा अधिकारी डौंडी को जांच अधिकारी नियुक्त किया है और शिकायत पत्र में उल्लेखित विषयों पर बिंदुवार जांच कर सात दिवस के भीतर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय मेंं जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया गया है। शिकायत पत्र में बताया गया था कि डीएव्ही स्कूल द्वारा बच्चों से ली जा रही फीस के संबंध में पालकों को स्पष्ट जानकारी नहीं दी जा रही है। मामले में स्कूल के प्राचार्य द्वारा कहा गया है कि फीस वृद्धि जिला शिक्षा अधिकारी के प्रतिनिधि की उपस्थिति मेंं की गई है।

सीबीएसई बोर्ड दिल्ली से भी करेंगे शिकायत
मामले में भारतीय जनता युवा मोर्चा ने यह निर्णयलिया है कि अब डीएवी स्कूल से संबंधित सभी शिकायतों को जनरल सेके्रटरी डीएव्ही कॉलेज मैनेजिंग कमेटी नई दिल्ली एवं सीबीएसई बोर्ड दिल्ली के समक्ष रखा जाएगा।साथ ही जल्द ही कोई ठोस कार्यवाही न होने पर भाजपा युवा मोर्चा द्वारा दल्लीराजहरा नगर में हस्ताक्षर अभियान चलाया जायेगा।

की गई 10 और 20 प्रतिशत की फीस वृद्धि
इस संबंध में डीएवी स्कूल के प्राचार्य सीएस पांडेय ने बताया इस वर्ष बीपीएल श्रेणी के 18 बच्चों को कक्षा पहली में प्रवेश दिया गया है। वहीं फीस वृद्धि के संबंध मेंं उन्होंने बताया कि बीएसपी कर्मचारियों के बच्चों के लिए 10 प्रतिशत एवं गैर बीएसपी के बच्चों के लिए 20 प्रतिशत फीस वृद्धि की गई है।

Show More
Chandra Kishor Deshmukh
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned