3000 पेड़ों को कटने से बचाने छत्तीसगढ़ के इस जिले में शुरू हुआ चिपको आंदोलन, लोगों ने कहा सांसों की नहीं देंगे बलि

40 करोड़ की लागत से बनने वाले 7 किमी. की बायपास सड़क के लिए लगभग 3 हजार पेड़ों की बलि देने का विरोध हो रहा है। पेड़ों की कटाई रोकने जिले के ग्रीन कमांडो ने अनोखा प्रदर्शन किया।

By: Dakshi Sahu

Updated: 12 Jul 2021, 06:22 PM IST

बालोद. जिले में तरौद देहान के बीच 40 करोड़ की लागत से बनने वाले 7 किमी. की बायपास सड़क के लिए लगभग 3 हजार पेड़ों की बलि देने का विरोध हो रहा है। पेड़ों की कटाई रोकने जिले के ग्रीन कमांडो ने अनोखा प्रदर्शन किया। रविवार को पर्यावरण प्रेमी व ग्रीन कमांडो वीरेंद्र सिंह की टीम सहित अन्य लोगों ने पेड़ों सेे चिपक कर चिपको अंदोलन किया। शासन-प्रशासन से मांग भी की कि पेड़ों की कटाई न की जाए। सड़क निर्माण के लिए पेड़ों की कटाई न कराने नायब तहसीलदार मनोज भरतद्वाज को ज्ञापन सौंपा। आंदोलन ने साल 1973 में उत्तरप्रदेश के चमोली में हुए चिपको आंदोलन की याद दिला दी। जिस पेड़ों को काटने की तैयारी चल रही है, उन्हीं पेड़ों से चिपक कर आंदोलन किया गया।

तीन हजार पेड़ों को काटने के लिए चिन्हांकित किया
पर्यावरण प्रेमियों ने दल्ली के ग्रीन कमांडो वीरेंद्र सिंह व देवरी के पर्यावरण प्रेमी भोज साहू के नेतृत्व में यह आंदोलन किया। तरौद बायपास के लिए लगभग 3 हजार पेड़ों को काटने के लिए चिन्हांकित किया गया है। ग्रीन कमांडो में कहा कि पेड़ों की कटाई से ऑक्सीजन की कमी व पर्यावरण प्रदूषित हो रहा है। ऐसे समय में पेड़ों को विकास के नाम पर काटना गलत है

नगर में निकाली जागरुकता रैली
पर्यावरण प्रेमी भोज साहू व ग्रीन कमांडो ने जिला मुख्यालय में रविवार को लोगों को पर्यावरण व पौधारोपण के प्रति जागरूक करने शेर, भालू बनकर रैली निकाली। लोगों से अपील की कि पेड़ों की कटाई ना करें। विकास कार्यों में भी पेड़ों की बलि न दी जाए।

3000 पेड़ों को कटने से बचाने छत्तीसगढ़ के इस जिले में शुरू हुआ चिपको आंदोलन, लोगों ने कहा सांसों की नहीं देंगे बलि

लगातार पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य
पर्यावरण प्रेमियों ने लगातार जिले व अन्य जिले में पर्यावरण संरक्षण को लेकर आंदोलन व विविध आयोजन भी किए हैं। इन दोनों के नेक कार्य अन्य लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत बने हुए हैं।

प्लांटेशन की प्रक्रिया चल रही हैं
बालोद जिले में बायपास के लिए वन विभाग जितने पेड़ काटे जाएंगे, उससे ज्यादा पौधारोपण करेगा। उसके बाद ही आगे की प्रक्रिया की जा रही है। इस मुहिम में दुलेश्वर डड़सेना, राज कुमार साहू, प्रदीप साहू, दीपक थवानी, यशवंत टंडन, यज्ञ भूषण भारद्वाज, सचिन कुमार सहित जिले के पर्यावरण प्रेमी शामिल हुए।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned