scriptCM made indecent remarks on Chhattisgarh BJP President Sai | CM ने कहा पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा अध्यक्ष साय के दिमाग में भरा है गोबर, अभद्र टिप्पणी से भड़का आदिवासी समाज, थाने में शिकायत | Patrika News

CM ने कहा पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा अध्यक्ष साय के दिमाग में भरा है गोबर, अभद्र टिप्पणी से भड़का आदिवासी समाज, थाने में शिकायत

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देवसाय पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा गई अभद्र टिप्पणी से कार्यकर्ताओं में खासा गुस्सा है।

बालोद

Published: November 27, 2021 02:54:09 pm

बालोद. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु देवसाय पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा गई अभद्र टिप्पणी से कार्यकर्ताओं में खासा गुस्सा है। मुख्यमंत्री के खिलाफ अजा-अजजा अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई करने की मांग लेकर अजजा मोर्चा के अध्यक्ष विक्रम ध्रुवे के नेतृत्व में शुक्रवार को डीएसपी को ज्ञापन सौंपा गया। भाजपा बालोद जिलाध्यक्ष कृष्णकांत पवार ने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, पूर्व में केंद्रीय राज्यमंत्री रहे हैं। सत्ता एवं संगठन के विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर दायित्वों का निर्वहन किया है। वे लोकप्रिय आदिवासी जननेता हैं। कंवर जनजाति समाज से आते हैं।
CM ने कहा पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा अध्यक्ष साय के दिमाग में भरा है गोबर, अभद्र टिप्पणी से भड़का आदिवासी समाज, थाने में शिकायत
CM ने कहा पूर्व केंद्रीय मंत्री व भाजपा अध्यक्ष साय के दिमाग में भरा है गोबर, अभद्र टिप्पणी से भड़का आदिवासी समाज, थाने में शिकायत
विष्णु देवसाय के दिमाग में भरा है गोबर
युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष विक्रम ध्रुवे ने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह जानते हुए कि विष्णुदेव साय जनजाति समाज के हैं, फिर भी पत्रकारों के सवाल पर उन्हें सार्वजनिक रूप से अपमानित करने के उद्देश्य से कहा कि यदि उनके दिमाग में गोबर भरा है तो हमने खोज लिया है कि उससे भी बिजली जलाई जा सकती है। यह कहकर
पूरे समाज को अपमानित करने का प्रयास किया है।
मुख्यमंत्री पर की जाए कार्रवाई
भाजपाइयों ने पुलिस प्रशासन से मांग की कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत कठोर कार्रवाई कर जनजाति समाज के अधिकारों को सुदृढ़ता प्रदान करें। मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष देवेंद्र माहला एवं पूर्व विधायक राजेंद्र राय ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे आदिवासी समाज के प्रमुख नेता को अपमानित करने सीएम ने सार्वजनिक रूप से अभद्र टिप्पणी की। जिससे पूरा आदिवासी समाज अपमानित महसूस कर रहा है। अजा और अजजा अत्याचार निवारण अधिनियम की धारा 3 (ङ्ग) के अनुसार जो कोई, अनुसूचित जाति अथवा जनजाति का सदस्य नहीं है। जनता को दृष्टिगोचर किसी स्थान में अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के किसी सदस्य का अपमान करने के आशय से उसको अपमानित या अभित्रस्त करेगा, के अनुसार अपराधिक कृत्य की श्रेणी में आता है।
इन्होंने सौंपा ज्ञापन
अभद्र टिप्पणी के खिलाफ ज्ञापन सौंपने के दौरान भाजपा प्रदेश मंत्री राकेश यादव, जिला मंत्री अनिता कुमेटी, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राजीव शर्मा होरीलाल रावटे, वरिष्ठ आदिवासी नेता पालक ठाकुर, चिखलाकसा नगर पंचायत अध्यक्ष भीखी मसिया, शरद ठाकुर, दयानंद साहू, नगर पंचायत उपाध्यक्ष अब्दुल इब्राहिम, सरोज सलाम, बीरेंद्र साहू, चित्रसेन साहू, कुंती देवांगन, संतोष कौशिक, भरत पटेल आदि उपस्थित रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशPunjab Assembly Election 2022: पंजाब में भगवंत मान होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, 93.3 फीसदी लोगों ने बताया अपनी पसंदUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधUP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानखतरनाक हुई तीसरी लहर, जांच में हर पांचवां व्यक्ति कोरोना संक्रमितIndian Railways: स्टेशन पर थूकने वाले हो जाएं सावधान, रेलवे में तैयार किया ये खास प्लानभीषण लपटों से भी नहीं डरे ग्रामीण, अपनी जान पर खेलकर पड़ौसी को बचाया, Videoमशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन, सीएम ममता बनर्जी ने जताया शोक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.