scriptConstruction of Mohad reservoir stuck for 12 years | 12 साल से अटका मोहड़ जलाशय का निर्माण, 200 करोड़ की योजना 600 करोड़ तक पहुंची | Patrika News

12 साल से अटका मोहड़ जलाशय का निर्माण, 200 करोड़ की योजना 600 करोड़ तक पहुंची

डौंडी ब्लॉक के ग्राम मोहड़ में जलाशय का निर्माण विभागीय लापरवाही के कारण 12 साल से अटका है। जलाशय लगभग 200 करोड़ से बनना था। अब इसकी लागत 600 करोड़ पहुंच गई है। इसका प्रमुख कारण वन विभाग की जमीन का प्रकरण आज तक नहीं सुलझ पाना है। विभाग का कहना है कि यह प्रक्रिया केंद्र स्तर पर सुलझेगी।

बालोद

Published: July 01, 2022 12:15:36 am

बालोद. डौंडी ब्लॉक के ग्राम मोहड़ में जलाशय का निर्माण विभागीय लापरवाही के कारण 12 साल से अटका है। जलाशय लगभग 200 करोड़ से बनना था। अब इसकी लागत 600 करोड़ पहुंच गई है। इसका प्रमुख कारण वन विभाग की जमीन का प्रकरण आज तक नहीं सुलझ पाना है। विभाग का कहना है कि यह प्रक्रिया केंद्र स्तर पर सुलझेगी। मोहड़ परियोजना में लगभग 288 हेक्टेयर जमीन वन विभाग के अधीन है। जलाशय निर्माण के लिए वर्ष 2009 में 2 अरब 88 करोड़ की स्वीकृति मिली थी। जलाशय का निर्माण पूरा होने से भिलाई इस्पात संयंत्र को भी तांदुला के साथ इस डेम से भी पानी मिलेगा। जलाशय का निर्माण एनएसपीसीएल की बिजली बनाने के लिए किया जा रहा है।

परियोजना से बननी है बिजली: वन भूमि बनी रोड़ा, प्रकरण केंद्र को भेजने की तैयारी
जल संसाधन विभाग का कार्यालय

नहर निर्माण का कार्य भी अधूरा
सिंचाई विभाग के मुताबिक 2009-10 में इस बांध के निर्माण व वन विभाग की जमीन का सर्वे करने में लाखों खर्च किए गए। वहीं मोहड़ जलाशय का निर्माण शुरू कराया गया, जो लगभग पूरा हो गया है। वेस्टवियर का निर्माण नहीं हुआ है। वहीं नहर निर्माण का कार्य भी अधूरा है। काम कब पूरा होगा विभाग को भी नहीं मालूम है।

आठ गांव डूबान में, जमीन अधिग्रहण का मुआवजा भी मिला
परियोजना के अंतर्गत जिले के कुल आठ गांव डुमराटोला, कुदारी, भर्रीटोला, हुच्चेटोला, करतूटोला, मंगचुआ, मरसकोल डूबान में आ रहे हैं। सिंचाई विभाग की माने तो इस योजना के अंतर्गत जिले के 129 खातेधारकों के कुल 71.08 हेक्टेयर जमीन के बदले कुल 2,49,42, 249 रुपए भुगतान हो चुका है। वहीं 67 किसानों को विशेष पैकेज के तहत अंतर की राशि का भुगतान करना है।

एनएसपीसीएल को बिजली बनाने मिलेगा पानी
मोहड़ जलाशय का निर्माण बिजली बनाने किया जा रहा है। इस योजना से भिलाई एनएसपीसीएल रोज 250 मेगावाट बिजली उत्पादन करेगी। हालांकि योजना को पूरा होने में समय लगेगा। जल संसाधन विभाग के अनुसार मोहड़ जलाशय के बनने के बाद तांदुला पर दबाव कम हो जाएगा। तांदुला में हर साल पर्याप्त पानी उपलब्ध रहेगा।

23 किमी लंबी नहर भी प्रस्तावित
इस बांध से जोड़ते हुए लगभग 23 किमी लंबी नहर भी बनाना प्रस्तावित है, जो मोहड़ जलाशय को खरखरा से जोड़ेगी। साथ ही तांदुला जलाशय में भी पानी आएगा। मोहड़ से तांदुला डेम में पानी आने के बाद नहर के माध्यम से भिलाई पहुंचाया जाएगा। भिलाई में बीएसपी व अन्य जगहों पर बालोद जिले से पानी सप्लाई की जा रही है। नहर निर्माण भी अधूरा है। जिन-जिन जगहों पर वन विभाग की जगह है, वहां काम अधूरा है।

केंद्र स्तर का मामला, दिल्ली में भेजेंगे प्रकरण
जल संसाधन विभाग के ईई टीसी वर्मा ने बताया कि शासन स्तर पर पहल की है। अड़चनें वन विभाग की हैं। कई बार पत्र लिखा। वन विभाग ने उच्च स्तरीय कार्रवाई की है। अब मामला केंद्रीय स्तर पर सुलझेगा। हम इसकी तैयारी कर रहे हैं। हम भी चाहते हैं योजना जल्द पूरी हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.