यूनियन प्रतिनिधियों ने इस्पात मंत्री से कहा- सार्वजनिक उपक्रम का विनिवेशीकरण रोका जाए

मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन इंटक के प्रतिनिधिमंडल ने राजहरा प्रवास पर आए केन्द्रीय इस्पात एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को आठ सूत्रीय मांगपत्र सौंपा। श्रमिकों की मांगों को जल्द पूरा करने का आग्रह किया।

बालोद/दल्लीराजहरा @ patrika . मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन इंटक के प्रतिनिधिमंडल ने राजहरा प्रवास पर आए केन्द्रीय इस्पात एवं पेट्रोलियम मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को आठ सूत्रीय मांगपत्र सौंपा। श्रमिकों की मांगों को जल्द पूरा करने का आग्रह किया।

लंबित वेतन समझौता जल्द से जल्द कराने की मांग
मेटल मांइस वर्कर्स यूनियन इंटक प्रतिनिधिमंडल ने उन्हें मांगपत्र सौंपकर सेल कर्मचारियों का जनवरी 2017 से लंबित वेतन समझौता जल्द से जल्द कराने, देश की रीढ़ समझी जाने वाली सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के विनिवेशीकरण पर रोक लगाकर खुले बाजार के प्रतिस्पर्धा में बने रहने लायक व्यवस्था बनाने, कर्मचारी के आकस्मिक मृत्यु होने पर उनके बच्चों को 18 वर्ष की आयु तक चिकित्सा एवं शैक्षणिक सुविधा उपलब्ध कराने, खदान की परिस्थितियां आज के समय में बहुत बदल गई है।

अयस्क उच्च स्तर का नहीं मिल रहा
अयस्क उच्च स्तर का नहीं मिल रहा है। इसके लिए उपयुक्त मॉडिफिकेशन के कार्य को कराने, राजहरा नगर के मुख्य मार्ग में दुर्घटनाओं को रोकने भारी मालवाहकों के आवागमन के लिए बायपास सड़क का निर्माण कराने, सेल कर्मियों को सेवाकाल पूर्ण कर सेवानिवृत्ति होने पर 60 ग्राम सोने का सिक्का प्रदान करने की मांग रखी।

ठेका मजदूरों को उचित वेतन मिले
खदानों में कार्यरत ठेका कर्मचारियों को ठेकेदार द्वारा समय पर उचित न्यूनतम वेतन भुगतान कराने, श्रम कानून का पालन सुनिश्चित करने, सार्वजनिक उपक्रमों में शून्य दुर्घटना का माहौल बन सके इसके लिए ठेकेदारी व नियमित श्रमिकों के संख्या का अनुपात क्रमश: 40 व 60 प्रतिशत करने, डी रिजर्वेशन की फाइल को मंत्रालय से तय सीमा में क्लीयर करने की मांग की।

मंत्री ने उचित कदम उठाने दिया आश्वासन
साथ ही उम्मीद जताई कि उपरोक्त मांगों पर गंभीरता पूर्वक विचार कर केन्द्रीय इस्पात मंत्री श्रमिक हित में उचित कदम उठाएंगे। जिससे श्रमिकों को लाभ होगा। मांगपत्र सौंपने के दौरान प्रतिनिधिमंडल में इंटक के कार्यकारी अध्यक्ष चूड़ामणी साहू, सचिव तेजेन्द्र प्रसाद, वरिष्ठ उपाध्यक्ष भूपेन्द्र दिल्लीवार एवं संगठन सचिव अभय सिंह शामिल थे।

Show More
Chandra Kishor Deshmukh Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned