जेल में शाम 5 बजे के बाद नहीं बनता भोजन, मानवता के नाते आरोपियों को बाहर खिलाया

जेल में शाम 5 बजे के बाद नहीं बनता भोजन, मानवता के नाते आरोपियों को बाहर खिलाया

Chandra Kishor Deshmukh | Publish: Dec, 09 2018 09:10:00 AM (IST) Durg, Durg, Chhattisgarh, India

न्यायालय के आदेश पर जेल भेजे आरोपियों को जेल दाखिल के पहले दावत कराए जाने के मामले में थाना प्रभारी ने स्पष्टीकरण दिया है। उन्होंने कहा कि दावत के संबंध में सोशल मीडिया में जो बातें प्रचारित की जा रही है मामला वैसा नहीं है।

बालोद @ patrika. न्यायालय के आदेश पर जेल भेजे आरोपियों को जेल दाखिल के पहले दावत कराए जाने के मामले में थाना प्रभारी ने स्पष्टीकरण दिया है। उन्होंने कहा कि दावत के संबंध में सोशल मीडिया में जो बातें प्रचारित की जा रही है मामला वैसा नहीं है। उन्होंने कहा कि दिनभर कार्रवाई चली और शाम को जेल जाने का आदेश हुआ। चूंकि जेल में शाम पांच बजे के बाद भोजन नहीं बनता है और जेल जाने में होने वाली देरी को देखते हुए मानवता के नाते आरोपियों को बाहर में भोजन कराया गया है। भोजन नहीं कराने से सभी आरोपियों को जेल में रातभर भूखा रहना पड़ता।

सादा भोजन कराया गया न कि बिरयानी
बता दें कि पिछले दिनों नगर के एक निजी होटल में दल्लीराजहरा के पुलिस आरक्षकों द्वारा आरोपियों को दावत देने का मामला सोशल मीडिया में गरमाया था। न्यायालय में सुनवाई के बाद सभी आरोपियों को जेल ले जाने के पहले खाना खिलाने ले गए थे होटल में। वहां सादा भोजन कराया गया न कि बिरयानी खिलाई गई थी।

शाम को हुई सुनवाई
थाना प्रभारी मनीष परिहार ने बताया की इस कार्यवाही में सुबह से लगे थे और सुनवाई हुई तो शाम हो गया। यहीं नहीं जब उसे जेल ले जाने वाले थे तो पता चला की जेल में शाम 5 बजे तक के कैदियों के लिए भोजन बनता है और ये आरोपी तो शाम को ले गए, इसलिए इन आरोपियों को भोजन खिलाने होटल ले गए और सादा खाना खिलाया गया।

कैदियों की गिनती के बाद पकता है भोजन
इधर उपजेल के जेलर मतलाम ने भी कहा कि यहां शाम 5 बजे तक ही कैदियों की गिनती के मुताबिक भोजन पकाया जाता है। अगर कोई आरोपी देर से जेल में आता है तो उसको खाना नहीं दिया जाता। अपराधियों को खाना खिलाने की जिम्मेदारी पुलिस की है।

कैमरे से होगा खुलासा
दुकान के सीसीटीवी फुटेज में इस पूरे मामले का खुलासा हो सकता है। जिस हॉटल में अपरोपियों को भोजन कराया गया वहां सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। अगर टीवी फुटेज देखा जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned