scriptपहले इस जिले में 8 ब्लैक स्पाट थे, अब रह गए पांच, जाने कौन-कौन से… | Patrika News
बालोद

पहले इस जिले में 8 ब्लैक स्पाट थे, अब रह गए पांच, जाने कौन-कौन से…

बालोद जिले में लगातार सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। सड़क दुर्घटना व मौत अक्सर ब्लैक स्पाट पर हो रही है। यातायात पुलिस ने जिले के पांच ब्लैक स्पाट की जानकारी लोगों को दी है। इन स्थानों पर तीन साल में 68 लोगों की मौत हुई है। लोग इन जगहों पर वाहन सावधानीपूर्वक व धीमी गति में चलाएं।

बालोदJun 12, 2024 / 11:57 pm

Chandra Kishor Deshmukh

बालोद जिले में लगातार सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। सड़क दुर्घटना व मौत अक्सर ब्लैक स्पाट पर हो रही है। यातायात पुलिस ने जिले के पांच ब्लैक स्पाट की जानकारी लोगों को दी है। इन स्थानों पर तीन साल में 68 लोगों की मौत हुई है। लोग इन जगहों पर वाहन सावधानीपूर्वक व धीमी गति में चलाएं।

Black spot बालोद जिले में लगातार सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं। सड़क दुर्घटना व मौत अक्सर ब्लैक स्पाट पर हो रही है। यातायात पुलिस ने जिले के पांच ब्लैक स्पाट की जानकारी लोगों को दी है। इन स्थानों पर तीन साल में 68 लोगों की मौत हुई है। लोग इन जगहों पर वाहन सावधानीपूर्वक व धीमी गति में चलाएं। इन जगहों पर संकेतक बोर्ड भी लगाए गए हैं। इससे पहले जिले में कुल 8 ब्लैक स्पाट थे। तीन ब्लैक स्पाट में कम मौतें व दुर्घटना हुई हैं, इसलिए सांकरा, जगतरा, पैरी को ब्लैक स्पाट की सूची से हटा दिया गया है।

पांच जगह हैं ब्लैक स्पाट

राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 में ग्राम चिटौद, बालोदगहन, बालोदगहन नर्सरी, जगतरा, राजकीय राजमार्ग क्रमांक 7 में ब्लैक स्पॉट स्थान ग्राम पैरी अंधा मोड़, राजकीय राजमार्ग क्रमांक 5 में ब्लैक स्पॉट स्थान ग्राम संबलपुर बस्ती से मोड़ तक एवं ग्राम गुदुम कुल 5 स्थानों को ब्लैक स्पॉट के रूप में चिन्हांकित किया गया है।

यह भी पढ़ें

स्कूल परिसर के नीम पेड़ को काटने पर विवाद, ग्रामीणों की शिकायत पर होगी जांच

नियम के तहत वाहन चलाने के निर्देश

इन ब्लैक स्पॉट स्थानों में पुलिस प्रशासन ने संबंधित रोड निर्माण एजेंसी के सहयोग से कृपया धीरे चले दुर्घटनाजन्य क्षेत्र का संकेतक बोर्ड 14 नग एवं मुख्य मार्ग से जुडऩे वाले सहायक मार्गों पर रंबल स्ट्रीप का निर्माण, गति नियंत्रक बोर्ड, आसपास के पेड़ों में रिफ्लेक्टर टेप लगाया है।

यह भी पढ़ें

पहले थाने में करवाई पति की झूठी शिकायत, फिर वापस लेने के नाम पर एएसआई ने मांगे पैसे

अब और सूचना बोर्ड लगाने की योजना

पुलिस प्रशासन आम नागरिकों एवं सड़क उपयोगकर्ताओं से अपील की है कि ब्लैक स्पॉट से गुजरते समय निर्धारित वेग में वाहन चलाएं। सुरक्षात्मक उपाय जैसे सीट बेल्ट, हेलमेट का आवश्यक रूप से प्रयोग करें।

लगातार चालानी कार्रवाई भी

इन स्थानों पर यातायात पुलिस लगातार चालानी कार्रवाई कर रही है। यातायात नियमों का पालन करने, दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहनने की समझाइश भी दी जा रही है। बिना सीट बेल्ट लगाए वाहन चलाने, दोपहिया वाहन में तीन सवारी, नंबर प्लेट का स्पष्ट न लिखा होने पर यातायात नियमों के उल्लंघन करने वाले समस्त चालकों एवं वाहन मालिकों पर वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ें

गोंदली जलाशय के गेट की 20 दिन में मरम्मत पूरी, नई जाली, चैन और गेट लगाया गया

5 जगह पर ब्लैक स्पाट का चयन किया गया

बालोद यातायात प्रभारी राकेश ठाकुर ने कहा कि जिले में 5 जगहों को ब्लैक स्पाट का चयन किया गया है। इन स्थानों में सालभर में सड़क दुर्घटनाओं में तीन या पांच लोगों की मौत हो जाती है या फिर दस बढ़े सड़क हादसे हो होते हैं।

Hindi News/ Balod / पहले इस जिले में 8 ब्लैक स्पाट थे, अब रह गए पांच, जाने कौन-कौन से…

ट्रेंडिंग वीडियो