स्थानांतरण के बाद शिक्षक ने नहीं दी ज्वाइनिंग, तीन माह का वेतन हो गया आहरण

बालोद जिले के गुरुर ब्लॉक में ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के जिम्मेदार अधिकारी की लापरवाही के कारण ट्रांसफर आदेश के बाद भी ज्वाइनिंग नहीं लेने वाले शिक्षक का तीन माह का वेतन जारी हो गया।

बालोद @ patrika. जिले के गुरुर ब्लॉक में ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय के जिम्मेदार अधिकारी की लापरवाही के कारण ट्रांसफर आदेश के बाद भी ज्वाइनिंग नहीं लेने वाले शिक्षक का तीन माह का वेतन जारी हो गया।

क्लर्क (लेखपाल) और शिक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी
शिक्षा विभाग को बिना जानकारी दिए शिक्षक ने तीन माह की राशि 84 हजार रुपए अपने खाते से निकाल भी ली। गड़बड़ी उजागर होने के बाद शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया। जिला शिक्षा अधिकारी ने इस गंभीर मामले को देखते हुए ब्लॉक शिक्षा अधिकारी के क्लर्क (लेखपाल) और शिक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी कर दो दिन के भीतर जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है।

बिना काम तीन माह का निकालते रहे वेतन
गुरुर ब्लॉक शिक्षा अधिकारी यूएस नागवंशी ने बताया कि शिक्षक के इस गड़बड़ी की जानकारी मिलते ही मामले की जांच की। राशि जारी करने वाले क्लर्क सुखचंद साहू से भी पूछताछ की जा रही है। बिना काम अगस्त, सितंबर और अक्टूबर का वेतन निकाल लिया गया।

डीईओ ने कर दिया था अटैच
जानकारी यह भी मिली है कि तीन माह घर पर रहने के बाद भी जिला शिक्षा अधिकारी ने शिक्षक को अटैच कर दिया था। अवकाश में रहने के बाद भी अटैच के समय जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय आया था। बाद में डीईओ ने आदेश को निरस्त कर दिया। ब्लॉक शिक्षा अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक शिक्षक विजय ने मंगलवार से ज्वाइनिंग ले ली है।

जुलाई में हुआ था ट्रांसफर, नहीं ली ज्वाइनिंग
शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक गुरुर ब्लॉक के शासकीय प्राथमिक शाला कोलिहामार में पदस्थ सहायक एलबी शिक्षक विजय कुमार साहू का ट्रांसफर 12 जुलाई 2019 को गुंडरदेही ब्लॉक के प्राथमिक शाला तिलोदा में हुआ था। पूर्व बीईओ प्रदीप कुमार राय ने भी 23 अगस्त को रिलीफ कर दिया, पर ट्रांसफर आदेश के बाद भी अवकाश लेकर ज्वाइनिंग ही नहीं दी।

पूर्व बीईओ पर उठ रही उंगली
गुरुर बीईओ कार्यालय से इस बड़ी लापरवाही में अब पूर्व बीईओ प्रदीप राय व वर्तमान क्लर्क सुखचंद साहू की गतिविधियों पर उंगली उठ रही है। आखिर कैसे बिना किसी काम के तीन माह तक वेतन जारी किया गया। बीते तीन माह तक बिना काम 28 हजार रुपए का वेतन निकालते रहे। तीन माह में 84 हजार वेतन आहरण हुआ। शिक्षक ने भी विभाग को जानकारी नहीं दी। मामले में शिक्षक विजय कुमार को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। शिक्षक से 84 हजार रुपए की वसूली की तैयारी विभाग कर रहा है।

कार्रवाई की जाएगी
जिला शिक्षा अधिकारी बालोद आरएल ठाकुर ने बताया कि शिक्षक और लेखापाल को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जल्द ही मामले पर कार्रवाई की जाएगी। मामले की जांच कड़ाई से की जा रही है।

Show More
Chandra Kishor Deshmukh Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned