कोविड अस्पताल में 4 माह के बच्चे की मौत मामले ने पकड़ा तूल, इलाज में लापरवाही, कलेक्टर ने दिए जांच के आदेश

पोस्टमार्टम के दौरान बच्चे को कैप कवर से निकाला तो उसके चेहरे को देख परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर अपनी भड़ास निकाली। (Covid hospital in Balod)

By: Dakshi Sahu

Published: 30 May 2020, 07:10 PM IST

बालोद. जिला कोविड-19 अस्पताल में 28 मई को गुंडरदेही विकासखंड के ग्राम टटेंगा (भरदा) के क्वारंटाइन सेंटर में साढ़े चार माह के निशांत की मौत के 12 घंटे बाद उसकी कोरोना जांच रिपोर्ट आई। रिपोर्ट निगेटिव है। इसके बाद शुक्रवार दोपहर 1 बजे मृत बच्चे के शव का पोस्टमार्टम किया गया। पोस्टमार्टम के दौरान बच्चे को कैप कवर से निकाला तो उसके चेहरे को देख परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर अपनी भड़ास निकाली। वे बोले हमारे बच्चे का क्या कसूर था, उसका समय पर इलाज क्यों नहीं किया गया।

पोस्टमार्टम के बाद बच्चे के शव को परिजनों को सौंप दिया गया। बच्चे के माता-पिता को भी कोविड अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। मासूम निशांत का अंतिम संस्कार किया गया। इस गम्भीर घटना के बाद कलेक्टर व गुंडरदेही विधायक ने भी कोविड-19 अस्पताल का जायजा लिया।

रिपोर्ट दूसरे दिन सुबह 6 बजे मिली
जिला कोविड-19 अस्पताल में बच्चे की मौत गुरुवार सुबह साढ़े पांच बजे हुई। बच्चे की मौत के बाद कोरोना जांच सैम्पल रिपोर्ट का इंतजार पूरे दिन किया गया। दूसरे दिन रिपोर्ट आई, जो निगेटिव थी। इसके बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली। वहीं परिजनों को मासूम बच्चे के पोस्टमार्टम के लिए तपती गर्मी में घंटों इंतजार करना पड़ा।

एसडीएम करेगी जांच
कोविड-19 जिला अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से साढ़े 4 माह के बच्चे की मौत के मामले में कलेक्टर जनमेजय महोबे ने जांच के निर्देश दिए हैं और एसडीएम सिल्ली थॉमस को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। साथ ही 3 दिन के भीतर जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए। क्योंकि बच्चे के पिता व परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया है। उचित कार्रवाई की भी मांग की है। कलेक्टर ने जांच टीम बनाकर कार्रवाई शुरू कर दी है।

पीएम रिपोर्ट का इंतजार
कलेक्टर की ओर से जांच के आदेश के बाद मामले को लेकर पुलिस सक्रिय हो गई है। बच्चे की मौत का कारण क्या है, इसकी जानकारी के लिए जल्द पोस्टमार्टम रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग से मांगेगी। अब पुलिस एवं जिला प्रशासन को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।

लगाया परिजनों ने गंभीर आरोप
साढ़े चार माह के बच्चे की मौत के लिए परिजनों ने स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का आरोप भी लगाया है। बच्चे के बड़े पिता युगेश्वर निषाद में कहा कि बच्चे के साथ गलत हुआ है। इस मामले की उच्च स्तरीय जांच व बच्चे को न्याय दिलाने आखिरी दम तक लड़ूंगा और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कराऊंगा।

कोविड अस्पताल पहुंचे कलेक्टर
घटना के दिन देर शाम को कलेक्टर भी कोविड अस्पताल पहुंचे। गुंडरदेही विधायक कुंवर सिंह निषाद ने भी अस्पताल पहुंचकर पहले मामले की पूरी जानकारी ली। परिजनों से पूछताछ की, फिर कहा कि यहां इलाज व देखरेख में लापरवाही हुई है। साथ ही मृत बच्चे के परिजनों को उचित कार्रवाई का भी भरोसा दिलाया।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned