खतरे की अनदेखी ऐसी कि बही बाइपास सड़क, पुल ढहते बचा

खतरे की अनदेखी ऐसी कि बही बाइपास सड़क, पुल ढहते बचा

Chandra Kishor Deshmukh | Publish: Jul, 14 2018 08:20:11 AM (IST) Balod, Chhattisgarh, India

राजनांदगांव से कच्चे तक बनाए जा रहे स्टेट हाइवे मुख्य मार्ग पर पुल निर्माण के दौरान ठेकेदार की लापरवाही के कारण एक बड़ी दुर्घटना टल गई।

बालोद/डौंडी. राजनांदगांव से कच्चे तक बनाए जा रहे स्टेट हाइवे मुख्य मार्ग पर पुल निर्माण के दौरान एडीबी और मुख्य मार्ग निर्माण ठेकेदार की लापरवाही और अनदेखी के कारण शुक्रवार को सुबह 10.30 बजे के आसपास एक बड़ी दुर्घटना टल गई। पर डायवर्सन सड़क बह गई और पुल निर्माण के लिए पांच दिनों पहले की गई ढलाई के लिए लगाई गई सेंट्रिंग भी गिर गई। मामले की सूचना पर पहुंचे एसडीएम ने निर्माण एजेंसी को फटकार लगाई। इस दौरान कई किलोमीटर तक वाहनों की लाइन लग गई थी।

पुल का निर्माण अंतिम चरण में
जानकारी अनुसार दुर्ग से भानुप्रतापपुर तक जाने वाले स्टेट हाइवे राजनांदगांव से कच्चे मुख्य मार्ग का निर्माण कार्य चल रहा है। चूंकि मार्ग पर पुल का निर्माण अंतिम चरण में है। मार्ग निर्माण के साथ पुलों का भी नए सिरे से निर्माण किया जा रहा है। इसके कारण बालोद जिले के आखरी छोर तथा बस्तर की सीमा पर मरकाटोला नाला पर पुल का निर्माण कार्य चल रहा है।

नीचे सेंट्रिंग लगाने के दौरान पानी निकासी पर नहीं दिया ध्यान
इस पुल का दो चरणों में ढलाई की गई थी, जिसमें 5 जुलाई को आधी और 8 जुलाई को बचे भाग की ढलाई की गई थी। ढलाई के लिए सेंट्रिग लगाई गई थी, जो की पुल को पुरी तरह से बन्द कर ऊपर से सेंट्रिग के खम्बे लगाए गए थे। चुंकि पुल निर्माण में ठेकेदार ने लापरवाही बरतते हुए पानी निकासी की जगह नहीं छोड़ी थी, जिससे पानी का दबाव बढ़ा और सेट्रिंग तोड़ते हुए डायर्वसन पुल को बहा ले गया जिसके कारण शुक्रवार को डौण्डी और भानुप्रतापपुर का संपर्क टूट गया है। इस घटना से पुल के कमजोर होने बात कही जा रही है।

 

Prev Page 1 of 2 Next
Ad Block is Banned