जिले के औद्योगिक क्षेत्र विकास की फाइल से तीन साल में नहीं हटी धूल

जिले के डौंडीलोहारा ब्लॉक के तहत ग्राम भरदा में औद्योगिक क्षेत्र बनाने के लिए की गई जगह का चिन्हांकन के बाद भी तीन साल में औद्योगिक क्षेत्र का विकास नहीं हो पाया। इस औद्योगिक क्षेत्र की फाइल उद्योग विभाग व मंत्रालय में ही अटकी पड़ी है।

By: Chandra Kishor Deshmukh

Published: 19 Jan 2019, 08:15 AM IST

बालोद @ patrika . जिले के डौंडीलोहारा ब्लॉक के तहत ग्राम भरदा में औद्योगिक क्षेत्र बनाने के लिए की गई जगह का चिन्हांकन के बाद भी तीन साल में औद्योगिक क्षेत्र का विकास नहीं हो पाया। इस औद्योगिक क्षेत्र की फाइल उद्योग विभाग व मंत्रालय में ही अटकी पड़ी है। सरकार बदल गई, पर बीते तीन साल से चल रही औद्योगिक क्षेत्र के विकास की प्रक्रिया फाइलों से निकल नहीं पाई है। कहा जाए कि जिले में औद्योगिक क्षेत्र सिर्फ कागज में ही बना है, हकीकत में नहीं। इस वजह से आज भी जिले के 1 लाख 40 हजार बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिल पा रहा है।

प्रदूषण का ग्राफ बढ़ रहा
जिले के शहरी क्षेत्रों में तेजी के साथ प्रदूषण का ग्राफ बढ़ रहा है। बालोद क्षेत्र में ही दर्जनभर से अधिक राइस मिल संचालित हो रहे हैं। रिहायसी इलाके में होने के कारण इसका प्रदूषण लोगों को सांस लेना भी मुश्किल होते जा रहा है। यही स्थिति गुरुर, लोहारा, दल्ली व गुरुर क्षेत्र में भी है। @ patrika . प्रदूषण से लोगों को बचाने किसी को सुध नहीं है, न जनप्रतिनिधि और न अधिकारी ध्यान दे पा रहे हैं। औद्योगिक क्षेत्र बनाने के लिए जगह का चिन्हांकन किए पर यह एरिया सिर्फ कागजों में है। फाइल से बहार नहीं निकल पाई है इसलिए बालोद जिलावासियों के लिए औद्योगिक क्षेत्र केवल सपना बन गया है।

औद्योगिक क्षेत्र बने तो मिले बेरोजगारों को रोजगार
उद्योग विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बालोद जिले में उद्योग व्यापार व जिले के बेरोजगारों को रोजगार देने के लिए औद्योगिक क्षेत्र के निर्माण की स्वीकृति शासन से मिली थी। इसके लिए उद्योग विभाग ने 12 हेक्टेयर जमीन का चिन्हांकन भी किया, पर यह कार्रवाई जमीन पर नहीं उतर पायी। @ patrika . जानकारी के मुताबिक बालोद जिले में 1 लाख 24 हजार शिक्षित बेरोजगार है इनमें से कई बेरोजगारों को यहां रोजगार मिल सकेंगे, पर यहां तो यह योजना ही फाइल में दबी पड़ी है।

अधिकारी बोले शासन स्तर पर होगी कार्रवाई
इधर उद्योग विभाग के सहायक अधिकारी वीपी वासनिक ने बताया औद्योगिक क्षेत्र का चयन किया गया है। शासन स्तर पर अधिकारी आएंगे तो आगे की कार्रवाई करेंगे। शासन स्तर पर ही औद्योगिक क्षेत्र की कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Chandra Kishor Deshmukh Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned