scriptबालोद जिले में अच्छी बारिश के साथ मानसून की एंट्री, किसानों के चेहरे पर दिखी खुशी | Patrika News
बालोद

बालोद जिले में अच्छी बारिश के साथ मानसून की एंट्री, किसानों के चेहरे पर दिखी खुशी

बालोद जिले में मानसून की एंट्री हो गई है। गुरुवार की रात बारिश हुई। शुक्रवार को दिनभर बदली के बाद देर शाम को गरज-चमक के साथ झमाझम बारिश से मानसून का स्वागत हुआ। शाम 7 बजे से शुरू हुई बारिश देर रात तक जारी रही। बारिश से किसानों के चेहरे में खुशी देखने को मिली।

बालोदJun 21, 2024 / 11:56 pm

Chandra Kishor Deshmukh

बालोद जिले में मानसून की एंट्री हो गई है। गुरुवार की रात बारिश हुई। शुक्रवार को दिनभर बदली के बाद देर शाम को गरज-चमक के साथ झमाझम बारिश से मानसून का स्वागत हुआ। शाम 7 बजे से शुरू हुई बारिश देर रात तक जारी रही। बारिश से किसानों के चेहरे में खुशी देखने को मिली।

Monsoon बालोद जिले में मानसून की एंट्री हो गई है। गुरुवार की रात बारिश हुई। शुक्रवार को दिनभर बदली के बाद देर शाम को गरज-चमक के साथ झमाझम बारिश से मानसून का स्वागत हुआ। शाम 7 बजे से शुरू हुई बारिश देर रात तक जारी रही। बारिश से किसानों के चेहरे में खुशी देखने को मिली।

बस स्टैंड में भरा पानी

किसानों को अच्छी बारिश की जरूरत थी। बारिश के बाद जिले के किसान कृषि कार्य में जुट गए है। दूसरी ओर जिला मुख्यालय के बस स्टैंड में पानी भर गया। बारिश होने के साथ पानी निकासी के पर्याप्त साधन अभी तक नेशनल हाइवे विभाग ने नहीं बनाया है।

जिले में इस बार 1.80 लाख हेक्टेयर में धान की खेती

कृषि विभाग के मुताबिक इस साल जिले में एक लाख 80 हजार हेक्टेयर से अधिक में कृषि कार्य करने का लक्ष्य रखा है। जिसमें से एक लाख 78 हजार हेक्टेयर में धान की खेती की जाएगी।

यह भी पढ़ें

तांदुला नदी के पुल की सरिया और उखड़ी कांक्रीट की गुणवत्ता के साथ कराएं मरम्मत

अब तक 7 हजार हेक्टेयर में हो चुकी धान की बोनी

कृषि विभाग के मुताबिक जिले में अब तक लगभग 7 हजार हेक्टेयर में धान की बोनी हो चुकी है। कई किसान रोपाई के लिए नर्सरी तैयार कर रहे हैं तो कई कर चुके हंै।

तापमान में आई गिरावट

बदली व बारिश के कारण जिले के तापमान में भी कमी देखने को मिली। शुक्रवार को जिले का अधिकतम तापमान 31 डिग्री एवं न्यूनतम तापमन 25 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग की माने तो जिले में आने वाले दिनों में अच्छी बारिश होने के आसार है।

यह भी पढ़ें

खरखरा-मोहंदीपाठ नहर की लाइनिंग में घटिया सामग्री का उपयोग, किसान आक्रोशित

जून में बीते साल से इस साल अधिक बारिश

बीते साल से जून में अधिक बारिश हुई है। बीते साल जून में 21 जून की स्थिति में मात्र औसत 2 मिमी बारिश हुई थी। इस साल औसत 35 मिमी बारिश हुई है।

जून में किस तहसील में कितनी बारिश

तहसील – बारिश मिमी में
बालोद – 33.5
गुरुर – 51.0
गुंडरदेही – 47.4
डौंडी – 8.1
डौंडीलोहारा – 52.7
अर्जुंदा – 27.2
मार्रीबंगला देवरी में – 30

यह भी पढ़ें

पहले योग से खुद को निरोगी बनाया, अब ऑनलाइन देश व विदेश में लोगों को सिखा रहे

सोसायटी व कृषि दुकानों में भीड़

खेती किसानी का सीजन लगते ही किसानों की भीड़ अब खाद-बीज के लिए सोसायटियों व कृषि केंद्रों में लग रही है। कृषि कार्य के लिए खाद-बीज खरीद रहे हैं।

Hindi News/ Balod / बालोद जिले में अच्छी बारिश के साथ मानसून की एंट्री, किसानों के चेहरे पर दिखी खुशी

ट्रेंडिंग वीडियो