संग्रहण केंद्र में बिजली गिरने से 29 क्विंटल धान का नुकसान

संग्रहण केंद्र में बिजली गिरने से 29 क्विंटल धान का नुकसान

Chandra Kishor Deshmukh | Publish: Jun, 23 2019 08:10:16 AM (IST) Balod, Balod, Chhattisgarh, India

बालोद जिले के धान संग्रहण केंद्र जगतरा में आकाशीय बिजली गिरने के बाद लगी आग से नुकसान का आकलन विभाग द्वारा किया गया। डीएमओ की रिपोर्ट के अनुसार 74 कट्टा धान से भरे बारदाने मे 29 क्विंटल धान खराब हुआ है।

बालोद @ patrika . जिले के धान संग्रहण केंद्र जगतरा में आकाशीय बिजली गिरने के बाद लगी आग से नुकसान का आकलन विभाग द्वारा किया गया। डीएमओ की रिपोर्ट के अनुसार 74 कट्टा धान से भरे बारदाने मे 29 क्विंटल धान खराब हुआ है। साथ ही रैक के 620 धान से भरे बारदाने जले मिले। विभाग ने आकाशीय बिजली से आगजनी की घटना में 74 हजार रुपए का नुकसान बताया है।

एक ही रैक में गिरी थी आकाशीय बिजली
डीएमओ आशुतोष कुमार ने बताया कि गुरुवार शुक्रवार की दरमियान रात 2 बजे बारिश के साथ आकाशीय बिजली गिरने से धान के एक रैक में आग लग गई। कर्मचारियों के साथ सुबह अग्निशमन यंत्र के सहारे से आग बुझाया गया। बिजली सिर्फ एक ही रेक पर गिरी थी।

डीएमओ ने भेजी उच्च अधिकारी को रिपोर्ट
डीएमओ आशुतोष कुमार ने इस घटना की पूरी जानकारी राज्य शासन को दी है। उन्होंने बताया कि चार साल पहले भी धान संग्रहण केंद्र में बिजली गिरी थी।

धान संग्रहण केंद्र में नहीं तड़ित चालक
जानकारी के मुताबिक आकाशीय बिजली अक्सर खुले जगहों पर गिरती है। धान संग्रहण केंद्र भी लगभग ढाई एकड़ के खुले मैदान में फैला हुआ है। लोगों का कहना है कि धान संग्रहण केंद्र में तडि़त चालक लगा देते तो आकाशीय बिजली नहीं गिरती।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned