scriptRailway notice to 30 families, land has to be vacated till 28 | 30 परिवार को रेलवे का नोटिस, 28 तक खाली करनी है जमीन | Patrika News

30 परिवार को रेलवे का नोटिस, 28 तक खाली करनी है जमीन

बालोद जिला मुख्यालय वार्ड-19 के निवासियों को रेलवे ने नोटिस जारी कर दिया है। वार्ड के पाररास रेलवे फाटक स्थित उडिय़ा कैंप में 30 परिवार वर्षों से निवासरत हैं। उन्हें रेलवे ने एक फरवरी को नोटिस जारी कर 28 फरवरी तक जमीन खाली करने कहा है। अब दो दिन बाकी है, जिससे उनमें हड़कंप है।

बालोद

Published: February 27, 2022 11:19:43 pm

बालोद. balod news जिला मुख्यालय वार्ड-19 के निवासियों को रेलवे ने नोटिस जारी कर दिया है। वार्ड के पाररास रेलवे फाटक स्थित उडिय़ा कैंप में 30 परिवार वर्षों से निवासरत हैं। उन्हें रेलवे ने एक फरवरी को नोटिस जारी कर 28 फरवरी तक जमीन खाली करने कहा है। अब दो दिन बाकी है, जिससे उनमें हड़कंप है। मोहल्लेवासियों ने कहा कि अगर हटाए गए तो हम कहां जाएंगे। वर्षों से यहां हम रह रहे हैं। हम कहीं नहीं जाएंगे। शासन-प्रशासन हम गरीबो की भी सुने। हमारे घर परिवार छोटे बच्चे भी हंै। ऐसे में हम सभी बेघर हो जाएंगे। शुक्रवार को विधायक (MLA) संगीता सिन्हा इस बस्ती में पहुंची और लोगों से जानकारी ली। लोगों ने अपनी परेशानी बताई। अपने स्थायित्व, बच्चों व परिवार के भविष्य को लेकर चिंता सता रही है। इस दौरान लोगों ने रेलवे जमीन से नहीं हटाने की मांग को लेकर विधायक को ज्ञापन सौंपा।

हड़कंप: विधायक पहुंचे उडिय़ा कैंप, लोग बोले-हटाए गए तो हम कहां जाएंगे
उडिय़ा कैंप में पहुंच कर विधायक संगीत सिन्हा ने लोगों से चर्चा की।

पहले व्यवस्थापन होगा, फिर हटाएंगे
विधायक संगीता सिन्हा ने रेलवे के डीआरएम और कलेक्टर से बात कर व्यस्थापन करने के बाद हटाने का आश्वासन दिया। जिस पर लोगों ने खुशी जाहिर करते हुए विधायक का आभार जताया। लोगों ने रेलवे से बेदखल नहीं करने और 3 से 4 वर्ष तक समय देने की मांग को लेकर अपर रेल मंडल व राज संपदा अधिकारी दक्षिण पूर्व रेलवे रायपुर को ज्ञापन सौंपा।

हमारी हैसियत नहीं कि जमीन खरीद सकें
लोगों ने बताया कि नगर पालिका सीमा क्षेत्र वार्ड-19 रेलवे जमीन पर 30 परिवार झुग्गी झोपड़ी और कच्चा मकान बनाकर निवास कर रहे हैं। हम लोग दादा परदादा के समय से रह रहे हैं। कैप में निवासरत सभी लोग गरीबी रेखा में जीवनयापन करने वाले मजदूर हंै। हमारे छोटे छोटे बच्चे हैं। हमारी इतनी हैसियत नहीं है कि जमीन खरीद कर मकान बना सकें।

शासन-प्रशासन ने नहीं सुनी
मोहल्लेवासियों ने विधायक से कहा कि समस्या का समाधान करने नगर पालिका व कलेक्टर के पास कई बार आवेदन कर चुके हैं। आज तक शासन प्रशासन ने नहीं सुनी है। जिस वक्त रेलवे को भूमि की आवश्यकता वास्तविक रूप से होगी। उस समय खाली कर देंगे। इस दौरान विधायक के साथ रामजी भाई पटेल, दाऊद खान, साजन पटेल, दिनेश्वर साहू, आबिद मलिक, शेख गुलाम आदि मौजूद थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

PM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंद्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तयसुकन्या समृद्धि योजना में सरकार ने किए बड़े बदलाव, जानें क्या है नए नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.