बारिश से किसानों ने ली राहत की सांस, बिजली सप्लाई में बाधा से 60 से ज्यादा गांव में ब्लैक आउट

बारिश से किसानों ने ली राहत की सांस, बिजली सप्लाई में बाधा से 60 से ज्यादा गांव में ब्लैक आउट

Chandra Kishor Deshmukh | Publish: Jul, 17 2018 08:40:15 AM (IST) Balod, Chhattisgarh, India

झमाझम बारिश से जलाशयों का जल स्तर बढ़ रहा है। वहीं इस बारिश से किसानों ने राहत की सांस ली है। बिजली सप्लाई में बाधा पहुंचने से जिले के 60 से ज्यादा गांव रात में अंधेरे में रहा।

बालोद. बीते दो दिनों से हो रही झमाझम बारिश से अब तेजी से जलाशयों का जल स्तर बढ़ रहा है। वहीं इस बारिश से किसानों ने राहत की सांस ली है। लगातार बारिश की वजह से बिजली सप्लाई में बाधा पहुंचने से जिले के 60 से ज्यादा गांव रात में अंधेरे में रहा। कुछ जगह बिजली पोल टूटे, तो कई जगह ट्रांसफार्मर में फाल्ट रहे जिससे गांव में सोमवार की शाम को बिजली आई।

सबसे बड़े जलाशय तांदुला में तेजी से जल स्तर बढ़ रहा
बीते दो दिनों से लगातार हुई बारिश ने पूरा जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। जिले में जिधर देखो उधर पानी ही पानी नजार आ रहा है। खेत-खलिहानों व नदी-नालों में पानी चलने लगी है। वहीं जिले के सबसे बड़े जलाशय तांदुला में तेजी से जल स्तर बढ़ रहा है। बीते दो दिनों में तांदुला में एक फीट पानी बढ़ा है, तो सुबह से शाम 5 बजे तक ही जलाशय में 4 पाइंट जलस्तर बढ़ा है। अभी तांदुला में 16 फीट पानी भर गया है। जल संसाधन विभाग की मानें तो कैचमेंट एरिया डौंडी तरफ भी अच्छी बारिश हुई है। इस बारिश से नदी-नाले के माध्यम से तेजी से जलाशय में पानी आ रहा है। बारिश ने जिले के सभी चार प्रमुख जलाशय जो प्यासे थे की प्यास बुझा दी है।

खेतों में भरा पानी, किसान खुश
इधर लगातार बारिश से खेत-खलिहान पानी-पानी हो गया है। किसानों को अच्छी बारिश की उम्मीद थी वह भी पूरी हो गई है। बीते दो दिनों से हुई बारिश पूरे जिलेभर में बरसे हैं। किसानों व कृषि विभाग की मानें तो यह बारिश किसानों के लिए वरदान है क्योंकि फसलों के लिए पानी की जरूर थी। इधर इस बारिश से नदी नाले में भी पानी आ गया है। मौसम विभाग की मानें तो मानूसन सक्रिय है अभी और बारिश होगी।

स्कूल, कॉलेज में विद्यार्थियों की संख्या कम
झमाझम बारिश ने तो लोगों को घरों में कैद कर के रख दिया है। कभी तेज तो कभी रुक-रुक हुई बारिश से सड़कें सुनी हो गई। स्कूल, कॉलेज के भी बच्चे बारिश की वजह से नहीं गए। वहीं शासकीय विभागों में भी कई कर्मचारी नहीं आए। इसलिए दफ्तर सूना रहा।

लगभग 60 गांव के लोग रात भर रहे परेशान
विद्युत विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक जिले में लगभग 60 से ज्यादा गांवों में रात भर बिजली बंद रही। सबसे ज्यादा परेशानी वनांचल क्षेत्रों में रही जहां बिजली रात भर बंद होने से ग्रामीण काफी परेशान रहे। जिले के बोड़की, चिचबोड, मटिया, बिरेतरा गांव में तो रात भर बिजली बन्द रही। विद्युत विभाग के पास विद्युत से सबंधित बहुत सी शिकायत आई।

Rain
IMAGE CREDIT: balod patrika

जिले में औसत 16 मिमी, पर बालोद में 6 घंटे में 2 इंच बारिश
भू अभिलेख शाखा से मिली जानकारी के मुताबिक रविवार से सोमवार सुबह 6 बजे तक पूरे जिले में औसत 16.9 मिमी बारिश हुआ है। इसमें बालोद में 33.3 मिमी, गुंडरदेही 19.2, गुरुर में 22.2व डौंडीलोहारा 7मिमी व डौंडी में 3 मिमी बारिश हुई है। इधर सोमवार सुबह 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक ही तांदुला आदमाबाद में रखे वर्षा मापी यन्त्र में मात्र 6 घंटे में 53 मिमी वर्षा दर्ज की यानी 2 इंच बारिश हुई है।

अधिकतम पारा रहा 29
बारिश व बदली ने मौसम में ठंडकता ला दी है और दिन व रात के तापमान में भी तेजी से गिरावट आई है। इस बीच अधिकतम पारा भी 36 डिग्री सेल्सियस से लुढ़ककर 29 पर आ गया है। रात का न्यूनतम पारा भी 26 से 23 पर पहुंच गया है। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में यह तापमान और नीचे जा सकता है। लगातार मध्यम व हल्की वर्षा होने की संभावना जताई जा रही है। कृषि विभाग की मानें तो किसान भी खरीफ फसल के लिए बोनी शुरू कर दें क्योंकि बीते दो दिनों से बारिश हो रही है। यह बारिश कृषि के लिए अनुकूल मानी जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned