चॉकलेट लेने पैसे देने के बहाने मासूम को घर ले जाकर 52 साल के व्यक्ति ने किया मुंहकाला

चॉकलेट लेने पैसे देने के बहाने मासूम को घर ले जाकर 52 साल के व्यक्ति ने किया मुंहकाला

Chandra Kishor Deshmukh | Updated: 15 Jul 2019, 08:00:15 AM (IST) Balod, Balod, Chhattisgarh, India

जिले में फिर एक बार नाबालिग के साथ दुष्कर्म की शर्मसार घटना सामने आई है। जिले के रनचिराई थाना क्षेत्र के एक गांव में 8 साल की मासूम नाबालिग के साथ गांव के ही रहने वाले 52 साल के अधेड़ ने चाकलेट लेने पैसे देने के बहाने घर ले गया और मुंहकाला किया।

बालोद @ patrika. जिले में फिर एक बार नाबालिग के साथ दुष्कर्म की शर्मसार घटना सामने आई है। जिले के रनचिराई थाना क्षेत्र के एक गांव में 8 साल की मासूम नाबालिग के साथ गांव के ही रहने वाले 52 साल के अधेड़ ने चाकलेट लेने पैसे देने के बहाने घर ले गया और मुंहकाला किया। मासूम ने घटना की जानकारी अपनी दादी के दी फिर परिजनों ने थाने में रिपोर्ट लिखाई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

मासूम खेल रही थी सहेलियों के साथ
पुलिस के अनुसार घटना शनिवार शाम की है। गांव में मासूम अपनी तीन सहेलियों के साथ खेल रही थी। आरोपी यशवंत कुमार 52 साल ने दो बच्चियों को 10 और 20 रुपए देकर वहां से भगा दिया। फिर 8 साल की मासूम को अपने घर के भूसा कमरे में ले गया बच्ची से मुंहकाला करने पर मासूम रोने लगी को उसे उसके घर के पास छोड़ दिया। इधर आरोपी की पत्नी को इस घटना की जानकारी लग गई। आरोपी ने पत्नी के साथ भी विवाद किया।

घर में गुमसुम व रोती बच्ची ने अपनी दादी को बताई घटना
बच्ची घर आई और अपने कमरे में जाकर रोने लगी। बच्ची की दादी ने पुचकार रोने का कारण पूछा तो पूरी घटना बता दी। इसके बाद बच्ची की दादी में घटना की जानकारी बच्ची के माता पिता को दी। फिर शाम को ही रनचिराई थाना जाकर घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस तत्काल आरोपी को गिरफ्तार कर थाने ले आई और पूछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह भी कबूल लिया।

ऐसे मामलों में फांसी का प्रावधान
हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने कानून में नया प्रावधान लागू किया है। अगर किसी बच्ची जिनकी उम्र 7 से 12 साल है। उनके साथ अगर दुष्कर्म होता है तो आरोपी को फांसी की सजा देने का प्रावधान है।

पुलिस की अपील-बच्चों पर रखें निगरानी, बच्चे पालक को बताकर बाहर जाए
वर्तमान माहौल में कब किसके साथ क्या हो जाए इसकी कोई गारन्टी नहीं है। डीएसपी दिनेश सिन्हा ने पालकों से अपील की है कि अगर बच्चे कहीं जा रहे है तो उस पर निगरानी भी रखें और पूछे कि बच्चे कहा व किस काम से किसके साथ जा रहा है। बच्चों को भी बता दिया जाए कि बाहर जाने पर घर वालों को बता कर ही जाए। पालक और बच्चे लापरवाही बरतें तो कभी भी बड़ी घटना हो सकती है इसलिए सावधान और सचेत रहे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned