रिमझिम बारिश के बीच सुभद्रा और बलभद्र के साथ निकली भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा

रिमझिम बारिश के बीच बालोद में शनिवार को धूमधाम से भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकाली गई। भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ विराजमान भगवान जगन्नाथ के रथ को खींचने के लिए श्रद्धालुओं में होड़ लगी रही।

By: Chandra Kishor Deshmukh

Published: 15 Jul 2018, 08:10 AM IST

बालोद. रिमझिम बारिश के बीच बालोद में शनिवार को धूमधाम से भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकाली गई। भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ विराजमान भगवान जगन्नाथ के रथ को खींचने के लिए श्रद्धालुओं में होड़ लगी रही।
रथ यात्रा समिति नगर पालिका बालोद की ओर से सबसे पहले कपिलेश्वर मंदिर में भगवान जगन्नाथ की विशेष पूजा की गई, जिसके बाद परंपरा का मान रखते हुए नगर के प्रबुद्ध नागरिकों ने पूजा-अर्चना कर रथ को खींचना शुरू किया। रथयात्रा को देखने व शामिल होने के लिए नगर सहित आसपास के गांव से लोग बड़ी संख्या में पहुंचे थे। रथ यात्रा की पूरी व्यवस्था में नगर पालिका अध्यक्ष विकास चोपड़ा और समिति के सदस्य सक्रिय रहे।

पुलिस ने संभाली सुरक्षा व्यवस्था
रथयात्रा में शामिल होने जिला मुख्यालय के कोने-कोने से आने वाले श्रद्धालुओं को ध्यान में रखते हुए शहर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई थी। रथयात्रा के दौरान कोई हंगामा न हो इसलिए शहर में पुलिस बल तैनात किया गया। इसके साथ ही ट्रैफिक पुलिस ने भी जगह- जगह मोर्चा संभाले रखा।

श्रद्धालुओं को गजामूंग का किया वितरण
रथ यात्रा समिति की ओर से इस बार भगवान जगन्नाथ के साथ माता सुभद्रा व अग्रज बलभद्र को एक ही रथ पर बिठाया गया था। जैसे ही रथ निकली तो फिर पूरा नगर रथ खींचने के लिए मानो उमड़ पड़ा। बाजे-गाजे के साथ डीजे की धुन पर थिरकते श्रद्धालु रिमझिम बारिश के दौरान उत्साह के साथ रथ खींचते नजर आए। रथ कपिलेश्वर मंदिर से शुरू होकर मधु चौक, जयस्तम्भ चौक, गंगा सागर तालाब, दल्ली चौक, फोव्वारा चौक होते हुए सदर मार्ग से वापस कपिलेश्वर मंदिर पहुंचा। रथयात्रा के दौरान रास्ते भर भक्तो को गजामूंग, चना, मटर, दाल के प्रसाद का वितरण किया गया।

रथयात्रा के स्वागत के लिए सजा नगर
गुरुर में शनिवार को भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा पूरे उत्साह के साथ निकाली गई। सुबह हनुमान मंदिर में भगवान जगन्नाथ, अग्रज बलभद्र व वहन सुभद्रा की विशेष पूजा के बाद बलभद्र परिवार की रथयात्रा निकाली गई। रथयात्रा हनुमान मंदिर से अंबेडकर चौक से होते हुए वापस वापस हनुमान मंदिर पहुंची। इस दौरान रास्ते में भगवान जगन्नाथ के दर्शन करने नगर सहित आपपास के दर्जनों ग्रामों के हजारों ग्रामीण पहुंचे थे। रथयात्रा के स्वागत के लिए नगर को तोरण से सजाया गया था, आंगन को लीपकर रंगोली सजाई गई थी।

Chandra Kishor Deshmukh Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned