scriptShepherds stop grazing and milking cows | चरवाहों ने गाय चराना और दूध दुहना बंद किया तो ग्रामीणों ने बुलडोजर मंगवाकर हटा दिया कब्जा | Patrika News

चरवाहों ने गाय चराना और दूध दुहना बंद किया तो ग्रामीणों ने बुलडोजर मंगवाकर हटा दिया कब्जा

ग्राम पलारी में गौठान में अतिक्रमण होने से चरवाहों ने चार दिनों से गायों को चराना एवं दूध दुहना बंद कर दिया। पंचायत ने कोई कार्रवाई नहीं की तो परेशान ग्रामीणों ने ग्राम समिति के माध्यम से बुलडोजर मंगवाकर गौठान को अतिक्रमण मुक्त कराया। ग्राम पलारी में 2000 से अधिक गाय हैं।

बालोद

Updated: June 26, 2022 11:50:46 pm

बालोद/गुरुर . ग्राम पलारी में गौठान में अतिक्रमण होने से चरवाहों ने चार दिनों से गायों को चराना एवं दूध दुहना बंद कर दिया। पंचायत ने कोई कार्रवाई नहीं की तो परेशान ग्रामीणों ने ग्राम समिति के माध्यम से बुलडोजर मंगवाकर गौठान को अतिक्रमण मुक्त कराया। ग्राम पलारी में 2000 से अधिक गाय हैं। छह चरवाहा अलग-अलग दल में चराने जाते हैं। 4 दिनों से सभी चरवाहों ने एक साथ गायों को चराना एवं घरों में जाकर दूध दुहना बंद कर दिया। चरवाहों ने ग्राम के गौठान में अतिक्रमण होने एवं गायों को चराने के लिए जगह नहीं बचने की जानकारी पंचायत को 21 जून को दी। तीन दिनों तक पंचायत ने कोई कार्रवाई नहीं की। परेशान चरवाहों ने गुरुवार से गायों को चराना बंद कर दिया। इससे ग्राम में हड़कंप मच गया। ग्रामीणों ने आपात बैठक बुलाई एवं अतिक्रमणकारियों को कब्जा हटाने कहा। उन्होंने कहा कि जब अन्य लोगों का अतिक्रमण हटेगा, तब हम भी अपना अतिक्रमण हटा देंगे। ग्रामीणों ने समस्या को देखते हुए रविवार को गौठान पहुंचकर बुलडोजर से अतिक्रमण हटा दिया।

पलारी गौठान में अतिक्रमण: दो माह से चल रहा था विवाद, गांव की 2000 गाय रह जाती थीं भूखी
ग्राम समिति के माध्यम से ग्रामीणों ने की कार्रवाई।

दो माह से चल रहा विवाद
ग्राम में अतिक्रमण का विवाद दो माह से चल रहा है। तहसीलदार ने ग्रामीणों की मांग पर पूरे गांव की जमीन नाप के लिए पांच पटवारी एवं एक आरआई की टीम एक माह पूर्व गठित की थी। ग्रामीणों को आश्वासन दिया था कि टीम सप्ताह में तीन दिन ग्राम में सीमांकन कर अतिक्रमण भूमि को चिन्हित करेगी, जिसे नियमानुसार हटाया जाएगा। महीना बीतने के बाद भी टीम नहीं पहुंची। कुछ ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि सब पंचायत की मिलीभगत से हो रहा है। उनका दावा है कि पंचायत ने गौठान में अतिक्रमण करने वालों को अन्यत्र घास भूमि में भूमि देने का आश्वासन दिया है।

दिनभर गाय रह जाती हैं भूखी
चरवाहों आनंदराम यादव, पंचराम यादव, सेवाराम यादव, राधेलाल यादव व अन्य ने कहा कि ग्राम की चारागाह भूमि पर लोगों ने पूरी तरह कब्जा कर लिया है। हम सड़क किनारे गाय को चराते हैं। यहां चारा नहीं है। दिनभर गाय भूखी रह जाती है। अब जहां गाय को ठहरा कर आराम कराते हैं, उस गौठान पर भी कुछ लोगों ने कब्जा कर लिया था। इसलिए हमने गायों को चराना बंद किया। ग्राम विकास समिति अध्यक्ष राजेश कुमार सोनी सोनबेर ने कहा कि 2 साल से चारागाह, मुक्तिधाम, अस्पताल परिसर, खेल मैदान सहित अन्य स्थलों से अतिक्रमण हटाने पंचायत से लेकर कलेक्टर तक आवेदन दे चुके हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। 2 माह पूर्व विवाद के बाद तहसीलदार ग्राम में पहुंचे थे। ग्राम को अतिक्रमण मुक्त कराने का आश्वासन दिया था। कार्रवाई नहीं हुई। विकट स्थिति खड़ी होने पर ग्रामीणों ने सामूहिक निर्णय लेकर अतिक्रमण हटाया।

पंचायत ग्रामीणों के निर्णय के साथ
सरपंच रामसिंह मार्कंडेय ने कहा कि पंचायत ग्रामीणों के निर्णय के साथ है। हमने किसी को जमीन देने का वादा नहीं किया। आबादी घोषित होने के बाद ही जरूरतमंदों को भूमि दी जाएगी। पंचायत अतिक्रमण हटाने में सक्षम नहीं हुई, इसलिए ग्रामीण समिति ने कार्रवाई की। तहसीलदार को फोन कर बताया था कि पटवारी और आरआई काम नहीं कर रहे हैं।

घटनाक्रम की हमें जानकारी नहीं
तहसीलदार मनोज कुमार भारद्वाज ने कहा कि मैंने पटवारी एवं राजस्व निरीक्षक की टीम गठित कर उन्हें सीमांकन का आदेश दे दिया है। टीम कार्य नहीं कर रही है। उसकी उसकी जानकारी पंचायत ने नहीं दी। रविवार के घटनाक्रम की भी हमें जानकारी नहीं है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कर्नाटक के बाद येडियूरप्पा के सहारे अब 'मिशन दक्षिण' में जुटी भाजपाJabalpur करोड़पति आरटीओ, आय से 650 प्रतिशत अधिक प्रापर्टी मिलीPro Boxing:  विजेंदर के करारे मुक्कों के आगे पस्त अफ्रीकन लॉयन सुले, 13वीं जीत हासिल कीNSA अजीत डोभाल की सुरक्षा में चूक को लेकर केंद्र का बड़ा एक्शन, हटाए गए 3 कमांडो'रूसी तेल खरीदकर हमारा खून खरीद रहा है भारत', यूक्रेन के विदेश मंत्री Dmytro KulebaAsia Cup 2022: मोहम्मद कैफ ने बताया, क्यों नहीं चुने गए एशिया कप के लिए संजू सैमसनNagpur Crime: डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस के घर के बाहर मजदूर ने किया सुसाइड, मचा हड़कंपरोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दिया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.