बालोद विकासखंड के 703 शिक्षाकर्मियो में 518 का होगा संविलियन, कागजी कार्रवाई में ही बीत गया पहला दिन

बालोद विकासखंड के 703 शिक्षाकर्मियो में 518 का होगा संविलियन, कागजी कार्रवाई में ही बीत गया पहला दिन

Chandra Kishor Deshmukh | Updated: 15 Jul 2018, 09:00:00 AM (IST) Balod, Chhattisgarh, India

सरकार के शिक्षाकर्मियों के शिक्षा विभाग में संविलियन की घोषणा के बाद शनिवार से जिले के 8 हजार शिक्षाकर्मियों को अब शिक्षक बनाने की कार्रवाई शुरू हो गई।

बालोद. सरकार के शिक्षाकर्मियों के शिक्षा विभाग में संविलियन की घोषणा के बाद शनिवार से जिले के 8 हजार शिक्षाकर्मियों को अब शिक्षक बनाने की कार्रवाई शुरू हो गई। दो दिन चलने वाली संविलियन की प्रक्रिया के लिए जिले के प्रत्येक विकासखंड में शिविर लगाया गया। संविलियन की लंबी कागजी कार्रवाई की वजह से शिविर स्थल पर शिक्षाकर्मियों की भीड़ लग गई थी।
शिक्षाकर्मियों के संविलियन के लिए जिले के पांचों विकासखंड बालोद, गुरुर, गुंडरदेही, डौंडी व डौंडीलोहारा में लगाए गए शिविर में 8 वर्ष या उससे अधिक सेवावधि पूर्ण कर चुके शिक्षक पंचायत संवर्ग की एम्पलाई डाटाबेस, इ-पेरोल आईडी सहित सभी प्रविष्टि की प्रक्रिया शुरू की गई। इसके लिए शिविर में नियुक्त किए गए नोडल अधिकारी के नेतृत्व में टीम गठित कर कार्रवाई की जा रही है।

बनाए गए छह अलग-अलग काउंटर
प्रक्रिया को बेहतर और व्यवस्थित तरीके से संपन्न करने के लिए शिविर स्थल पर अलग-अलग 6 काउंटर बनाए गए हैं। संबंधित कर्मचारी के नए डीडीओ कोड, कर्मचारी कोड को उपलब्ध करा रहे हैं। ऑनलाइन अंतिम वेतन प्रमाण पत्र भी कर्मचारियों को प्रदान की जा रही है, साथ ही सीपीएस कटौती के लिए अब तक प्रान नंबर से वंचित शिक्षक पंचायत को प्रान नंबर उपलब्ध कराने की प्रक्रिया भी की जा रही है।

शिक्षाकर्मी संघ के पदाधिकारी भी जुटे
दो दिन तक चलने वाले संविलियन शिविर में जिले के लगभग चार हजार शिक्षक पंचायत अब नियमित शिक्षक बन जाएंगे। शिक्षाकर्मी संघ के पदाधिकारियों की माने तो शिविर स्थल पर सभी प्रकरणों का निराकरण कर इ-कोष प्रविष्टि करने की मांग अधिकारियों से की गई है। इसके अलावा शिविर में सहयोग के लिए पदाधिकारियों ने भी टीम तैयार की है।

उच्च पद पर गए शिक्षाकर्मियो का भी कराना था दस्तावेज एंट्री
इधर शिक्षक मोर्चा ने कहा उच्च पद पर गए शिक्षाकर्मियो का भी कराना था दस्तावेज एंट्री। शिक्षक मोर्चा के प्रांतीय उपसंचालक रूपेंद्र सिन्हा व जिला उप संचालक रघुनंदन गंगबोइर ने कहा कि नियमत: निम्न से उच्चमपद इनका भी एंट्री किया जाना चाहिए।वही आगे बताया कि आज एलपीसी व सर्विस बुक वितरण करने का समय दिया था, पर किसी को एलपीसी व सर्विस बुक नहीं दिया गया। जिले में यह प्रक्रिया धीमी चल रही है। इस पर थोड़ी पहल शिक्षा विभाग करे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned