scriptSuch a case also: people are not giving garbage to save 30 rupees | ऐसा भी मामला : 30 रुपए बचाने लोग नहीं दे रहे कचरा | Patrika News

ऐसा भी मामला : 30 रुपए बचाने लोग नहीं दे रहे कचरा

नगर पालिका ने भले ही सफाई पर थ्री स्टार रेटिंग हासिल कर ली हो, लेकिन नगर की सफाई व्यवस्था की हकीकत कुछ और है। पालिका सफाई पर हर महीने छह लाख से अधिक रुपए खर्च करती है। लेकिन गली-मोहल्लों व नालियों से कचरा की सफाई नहीं हो रही है।

बालोद

Published: June 02, 2022 10:58:03 pm

बालोद. (Balod Patrika) नगर पालिका ने भले ही सफाई पर थ्री स्टार रेटिंग हासिल कर ली हो, लेकिन नगर की सफाई व्यवस्था की हकीकत कुछ और है। पालिका सफाई पर हर महीने छह लाख से अधिक रुपए खर्च करती है। लेकिन गली-मोहल्लों व नालियों से कचरा की सफाई नहीं हो रही है। साल 2018 में मिशन क्लीन सिटी के अंतर्गत नगर में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के लिए स्वच्छता मित्र महिलाओं की नियुक्ति भी की गई है। ये महिलाएं प्रतिदिन 20 वार्डों में रिक्शा लेकर घर-घर कचरा मांगने जाती हंै। अब लोग इन महिलाओं को कचरा देने से मना कर रहे हैं। इसकी वजह महीने का 30 शुल्क बताई जा रही है। वहीं लोग कचरा सड़क और नाली में फेंक रहे हैं। सफाई व्यवस्था सुधारने नगर पालिका को जागरुकता अभियान चलाकर ध्यान देना चाहिए।

थ्री स्टार रेटिंग वाले बालोद में सफाई व्यवस्था पर हर खर्च होते हैं छह लाख, फिर गली-मोहल्ले में गंदगी
डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन करने निकली स्वच्छता दीदी।

हर वार्डों में कचरा, नाली भी पटी
नगर पालिका के सफाई निरीक्षक पूर्णानंद आर्य ने बताया कि सफाई को लेकर तत्पर हैं। लोग जागरूक नहीं हो रहे हैं। महिला समूह की स्वच्छता दीदियों की टीम घर-घर कचरा कलेक्शन करने जाती हंै। फिर भी लोग कचरे को नाली व अपने घर के सामने डाल रहे हंै। हालांकि नगर पालिका सफाई करवाती है। लोगों की लापरवाही के कारण कचरा नाली व गली-मोहल्लों, सड़कों पर फेंक रहे हैं।

लोग 30 रुपए सफाई शुल्क भी नहीं देना चाहते
नगर पालिका के मुताबिक डोर टू डोर कचरा क्लेशन के लिए प्रति दिन एक रुपए शुल्क लिया जाता है। जिसने स्वच्छता दीदी हर घर से कचरा लेती है। कई लोग यह कहकर कचरा व रुपए नहीं देते हैं कि स्वच्छता दीदियों को सरकार महीने में वेतन दे रही हंै। फिर महीने के तीस रुपए क्यों दें। सफाई निरीक्षक ने कहा कि जो राशि दी जाती है, वह महिला समूह नहीं रखता बल्कि नगर पालिका में जमा होती है।

सफाई व्यवस्था पर एक नजर
कुल वार्ड -20
हर दिन नगर में 3800 किलो कचरा निकलता है।
पालिका हर महीने सफाई के लिए 6 लाख खर्च करती है।
सभी वार्ड के लगभग 5439 घरों में कचरा कलेक्शन की योजना।
कई लोग नहीं देते महीने में सफाई के 30 रुपए।
लगभग 4 हजार से अधिक घरों में कचरा कलेक्शन।
20 रिक्शा, 10 टिप्पर, 15 हाथ कचरा गाड़ी व एक जेसीबी से सफाई।

ये है शहर की हकीकत
Balod, Balod, Chhattisgarh, India IMAGE CREDIT: balod patrika

हर माह छह लाख खर्च, फिर भी गंदगी
नगर पालिका के मुताबिक सफाई के लिए ही नगर पालिका हर महीने लगभग छह लाख रुपए खर्च करती है। जिसमें डीजल, सफाई कर्मियों व स्वच्छता दीदियों का वेतन भी शामिल है। साफ -सफाई रोजाना हो रही हैं। साफ -सफाई के लिए धीरे-धीरे लोग नगर पालिका का सहयोग करना बंद कर रहे हैं।

सफाई हम सबकी जिम्मेदारी
पालिका के सफाई निरीक्षक पूर्णानंद आर्य ने कहा कि हर वार्ड मोहल्लों की नाली गलियों की साफ -सफाई करा रहे हैं। साफ -सफाई हम सबकी जिम्मेदारी व कर्तव्य है। लोग कचरे को नाली व गली सड़कों पर न फेंके। स्वच्छता दीदियों को कचरा दें। लोग भी सफाई में सहयोग करें तो नगर और साफ सुथरा दिखाई देगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका, 'शिवसेना बालासाहेब' नाम से शिंदे खेमे ने बनाया नया समूहMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.