scriptThere was a stir as soon as the rumor of lockdown started flying | लॉकडाउन की अफवाह उड़ते ही मचा हड़कंप, बाजार से गायब हुआ गुड़ाखू, गुटखा, दागुने दाम वसूल रहे किराना व्यापारी | Patrika News

लॉकडाउन की अफवाह उड़ते ही मचा हड़कंप, बाजार से गायब हुआ गुड़ाखू, गुटखा, दागुने दाम वसूल रहे किराना व्यापारी

बालोद जिले में एक दिन पहले गुड़ाखू 190 रुपए पूड़ा बिक रहा था। सख्ती और लॉकडाउन की अफवाह के बाद दाम 24 घंटे में 500 रुपए पूड़ा पहुंच गया। अब कई दुकानों से गुड़ाखू गायब हो गया है।

बालोद

Updated: January 10, 2022 10:08:49 am

बालोद. जिले में भले ही कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। लेकिन अभी लॉकडाउन को लेकर कोई निर्देश और घोषणा सरकार व प्रशासन ने नहीं की है। बावजूद जल्द लॉकडाउन होने की अफवाह उड़ते ही जिलेभर में हड़कंप मच गया है। अफवाह के बाद कुछ आपदा में भी अवसरवादी व्यापारियों ने अचानक से विभिन्न खाद्य व दैनिक जीवनोपयोगी सामग्रियों के दाम 5 से 10 गुना बढ़ा दिए हैं। प्रशासन ने कोरोना संक्रमण को रोकने भीड़भाड़ वाले आयोजनों, मेला मंडई को बंद कर दिया है। इससे मेला में कारोबार करने वालों का सामान खराब हो रहा है, लेकिन सख्ती के बाद जमाखोरों की चांदी हो गई है।
लॉकडाउन की अफवाह उड़ते ही मचा हड़कंप, बाजार से गायब हुआ गुड़ाखू, गुटखा, दागुने दाम वसूल रहे किराना व्यापारी
लॉकडाउन की अफवाह उड़ते ही मचा हड़कंप, बाजार से गायब हुआ गुड़ाखू, गुटखा, दागुने दाम वसूल रहे किराना व्यापारी
गुड़ाखू 190 रुपए पूड़ा से 500 रुपए पहुंचा, बाजार से गायब
बालोद जिले में एक दिन पहले गुड़ाखू 190 रुपए पूड़ा बिक रहा था। सख्ती और लॉकडाउन की अफवाह के बाद दाम 24 घंटे में 500 रुपए पूड़ा पहुंच गया। अब कई दुकानों से गुड़ाखू गायब हो गया है। यही स्थिति गुटखा की भी है।
पिछली बार नमक के दाम बढ़ा दिए थे
बीते साल कोरोना बढऩे के साथ जिले में प्रशासन ने सख्ती बरती थी। उस समय भी 10 रुपए के नमक के लिए मारामारी हो गई थी। 10 रुपए का नमक पैकेट 50 रुपए तक बेचा गया। वास्तव में पर्याप्त नमक दुकानों में था। अवसरवादी व्यापारियों को इस विकट परिस्थिति में लोगों की परेशानी को समझना चाहिए। इस समय आम जनता का सहयोग करने की जरूरत है न कि मुनाफाखोरी की। ऐसे व्यापारियों पर प्रशासन को कड़ी कार्रवाई करने की जरूरत है। ताकि दोबारा अधिक दाम पर सामान न बेच सकें।
दुकानदार ही फैला रहे हैं लॉकडाउन की अफवाह
कोरोना की आड़ में लॉकडाउन की अफवाह फैलाकर मुनाफाखोरी का खेल शुरू हो गया है। हालात यह है कि रोजमर्रा की जरूरत का सामान दोगुने से भी ज्यादा कीमत पर बेचा जा रहा है। शहर के साथ ग्रामीण इलाके की किराना दुकानों में गुड़ाखू सहित में सभी तम्बाकू उत्पाद दोगुने दाम पर बिक रहे हैं। वहीं तेल और दाल की कीमत में भी 10 फीसदी तक बढ़ोतरी कर बिक्री की जा रही है।
किराना दुकानों में भी मुनाफाखोरी की खबर
कोरोना संक्रमण के कारण पूरे देश में ऐहतियात बरता जा रहा है। प्रदेश और जिले में आंशिक तौर पर कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं। वहीं बाजारों में भी ऐहतियात के साथ दुकानों को खोलने कहा जा रहा है। इसका मकसद बाजारों में भीड़ कम कर संक्रमण के खतरे को कम करना है, लेकिन इसकी आड़ में किराना दुकानों में मुनाफाखोरी की शिकायत सामने आ रही है। संकट की स्थिति का फायदा उठाकर दुकानदार मनमानी कीमत पर सामान बेच रहे हैं।
बड़े व्यापारी उठा रहे फायदा, ग्राहकों को बता रहे लॉकडाउन लगेगा
जिस तरीके से अचानक मूल्य वृद्धि हुई, उससे साफ है कि जमाखोरी का खेल शुरू हो गया है। फुटकर व्यापारियों का कारोबार मेला मंडई बंद होने से ठप हो गया। लेकिन बड़े व्यापारियों की चांदी हो गई है। वर्तमान में कई लोग व दुकानदार ग्राहकों को कह रहे हैं कि लॉकडाउन होने वाला है। लेकिन ऐसा कोई आदेश नहीं आया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.