जहां पद नहीं वहां के लिए कर दी सहायक शिक्षकों को एनओसी जारी

जहां पद नहीं वहां के लिए कर दी सहायक शिक्षकों को एनओसी जारी
Biio office

सहायक शिक्षक वर्ग-3 के एक भी पद रिक्त नहीं होने के बाद भी जिला पंचायत ने एनओसी जारी कर दिया है इसलिए जिले के सभी विकासखंड शिक्षाधिकारी इस प्रक्रिया का विरोध कर रहे हैं.

बालोद. जिला पंचायत द्वारा पति-पत्नी के स्थानांतरण व रिक्त पदों पर शिक्षकों की की गई नियुक्ति मामले में विभागीय गड़बड़ी सामने आई है। सहायक शिक्षक वर्ग-3 के एक भी पद रिक्त नहीं होने के बाद भी जिला पंचायत ने एनओसी जारी कर दिया है इसलिए जिले के सभी विकासखंड शिक्षाधिकारी इस प्रक्रिया का विरोध कर रहे हैं तथा एकभी सहायक शिक्षकों को ज्वाइनिंग नहीं दे रहे हैं। बीईओ का कहना है कि अपने पास सहायक शिक्षकों के पद रिक्त नहीं है तो कहां ज्वाइनिंग दें।

वर्ग एक व दो के पदों पर भर्ती प्रक्रिया
जिला पंचायत द्वारा वर्ग 1 व वर्ग 2 तथा सहायक शिक्षकों की स्थानांतरण प्रक्रिया शुरू है, लेकिन बीईओ अभी शिक्षकों को ज्वाइनिंग नहीं दे रहे हैं। जिला शिक्षाधिकारी कार्यालय के अनुसार जिले में 105 व्या?याता पद रिक्त हैं, जिसकी सूची जिला पंचायत को दी गईथी। उन्हीं शिक्षकों की भर्ती की जा रही है।

पहले कराए मनपसंद स्थानों पर ट्रांसफर, अब संशोधन
इधर स्थानांतरण कराने वाले शिक्षक पहले मनपसंद स्थानों पर ट्रांसफर कराए थे, लेकिन अब उन्हें ज्वाइनिंग नहीं मिलने के कारण अब वे मनपसंद स्थान का संशोधन करने के लिए जिला शिक्षाधिकारी कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं। शिक्षा विभाग का कहना है कि जितने रिक्त पदों की जानकारी हमने शिक्षा विभाग को दी है। उन्हीं पदों पर ही स्थानांतरण करेंगे, लेकिन शिक्षक पद रिक्त नहीं है तो स्थानांतरण करने का प्रश्न ही नहीं उठता।

स्थानांतरण प्रक्रिया पर सवाल
इस स्थानांतरण प्रक्रिया को लेकर पिछले दिनों बीईओ ने असंतोष जाहिर किया था। बीईओ यूएस नागवंशी, एसएल मिर्चे ने कहा कि हम सहायक शिक्षकों की भर्ती नहीं कर सकते, क्योंकि रिक्त पद है ही नहीं। शिक्षा विभाग की मानें तो जिला पंचायत को स्पष्ट बता दिया था कि वर्ग 1 व वर्ग 2 शिक्षक के 105 पद खाली है। सहायक शिक्षक की नहीं, लेकिन जिला पंचायत ने सहायक शिक्षकों की भी एनओसी जारी कर दिया है। अब जिला पंचायत ही जाने कि किस तरह शिक्षकों को जगह देते हैं। कहीं न कहीं इस स्थानांतरण प्रक्रिया में गड़बड़ी की आशंका है। अगर मामले की जांच कराई जाए तो कुछ न कुछ नया खुलासा हो सकता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned