महिला को आंगनबाड़ी में नौकरी लगाने नपं अध्यक्ष के पति ने मांगा पैसा, वायरल वीडियो में बड़े अधिकारियों का भी जिक्र

बालोद जिले के डौंडीलोहारा नगर पंचायत इन दिनों अध्यक्ष लोकेश्वरी साहू व उनके पति गोपी नारायण साहू की ओर से कथित कमीशन मांगने को लेकर सुर्खियों में है।

By: Dakshi Sahu

Updated: 23 Feb 2021, 04:22 PM IST

बालोद/डौंडीलोहारा. बालोद जिले के डौंडीलोहारा नगर पंचायत इन दिनों अध्यक्ष लोकेश्वरी साहू व उनके पति गोपी नारायण साहू की ओर से कथित कमीशन मांगने को लेकर सुर्खियों में है। अब अध्यक्ष के पति व कांग्रेस नेता गोपी नारायण साहू का कथित ऑडियो और वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है, जिसमें वे देवकी नाम की आदिवासी महिला को आंगनबाड़ी में नौकरी लगाने के नाम पर उससे व उसके पति अनिल से 35 हजार रुपए मांग रहे हैं। कथित ऑडियो व वीडियो के वायरल होने के बाद लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है।

मनिहारी की दुकान का है वीडियो
लगभग 6 मिनट के दो वीडियो भी वायरल हो रहे है, जिसमें पहले वीडियो में कांग्रेस नेता गोपीनारायण मनिहारी दुकान में बैठे दिख रहे हैं। जहां देवकी के पति अनिल 5 से 10 हजार रुपए एडवांस दे देने की बात कह रहे हैं। गोपीनारायण कल पीआईसी की बैठक होने की बात कही। इसके पूर्व हुई पीआईसी की बैठक में शिक्षाकर्मी के संविलियन के मामले को उपाध्यक्ष की ओर से फंसाने की बात कही जा रही है। वहीं अधिकारियों को इतना पेमेंट मिलता है, फिर भी उन्हें पैसा की जरूरत बताई गई। आवेदिका के पति ने सीएमओ से बात होने व उनके पूछने पर आंगनबाड़ी के लिए अध्यक्ष से बात होने की जानकारी दी।

कांग्रेसी नेता अधिकारियों का भी कर रहे हैं जिक्र
गोपीनारायण ने पीआईसी से पास करवाने के बाद राशि देने की बात कही। यह भी स्वीकार किया कि ये सब इललीगल है। इस बार वायरल आडियो व वीडियो में नगर पंचायत अध्यक्ष के पति गोपीनारायण साहू बातचीत में नगर पंचायत उपाध्यक्ष, जनपद सीईओ व शिक्षा अधिकारी का भी जिक्रकर रहे हैं। अब लोग इस हाइप्रोफाइल मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे हैं, ताकि मामले की वास्तविकता सबके सामने आ सके। जिम्मेदारों पर कार्रवाई हो सके।

दस मिनट के ऑडियो में कांग्रेस नेता गोपीनारायण साहू, महिला देवकी व उसके पति अनिल के बीच बातचीत का दावा किया गया है। आदिवासी महिला से आंगनबाड़ी में नौकरी लगाने के नाम पर लगभग 35 हजार रुपए की मांग की गई। महिला ने खुद के बीमार होने व इलाज चलने की बात कहते हुए असमर्थता जताई। इसके बाद कांग्रेस नेता ने शिक्षा अधिकारी व जनपद सीईओ की आड़ लेते हुए उन्हें भी इसके लिए बोलने की बात कही। 30 हजार में सौदा तय होने के बाद कांग्रेस नेता 15 दिन का समय देने की बात कह रहे हैं। राशि, देवकी के ड्यूटी ज्वाइन करने के 2 दिन पहले तक देने की बात कही।

गंभीर आरोपों और कमीशनबाजी का ऑडियो वायरल होने के बाद ब्लॉक और जिले के जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। कई लोगों ने अध्यक्ष लोकेश्वरी साहू से भी नैतिकता के नाते अध्यक्ष पद से इस्तीफा मांगा है। सोमवार को अध्यक्ष पति का पैसे मांगने का ऑडियो व वीडियो वायरल होने के बाद इसकी चर्चा प्रदेशभर में है।

दूसरे वीडियो में आंगनबाड़ी में नौकरी के लिए आवेदिका देवकी के पति से उनकी नौकरी में आपत्ति लगा है, कहते हुए अध्यक्ष पति ने कहा कि मैंने तुम्हारे नाम से ही पीआईसी बुलाई है। उसमें देवकी का नाम आंगनबाड़ी में नौकरी के लिए पास कराने की बात कही जा रही है।

कोई जानकारी नहीं
लोकेश्वरी साहू, अध्यक्ष नपं डौंडीलोहारा ने बताया कि इस संबंध में मुझे कोई जानकारी नहीं है। मनीष गायकवाड़, सीएमओ, नगर पंचायत डौंडीलोहारा ने बताया कि आंगनबाड़ी नियुक्ति में नगर पंचायत का सीमित हस्तक्षेप है। कथित आडियो या वीडियो में किस संबंध में चर्चा की जा रही है, मुझे इसकी जानकारी नहीं है। मैंने पैसों की मांग नहीं की है। दीपक ठाकुर,सीईओ, जनपद पंचायत ने बताया कि इस मामले में जनपद सीईओ का जिक्र होने की जानकारी मिली है। टीएल में होने के कारण वीडियो व आडियो नहीं देखा है। देखकर ही कुछ कह पाऊंगा।

मान-सम्मान का ख्याल रखना चाहिए
आरसी देशलहरा, बीईओ, डौंडीलोहारा ने बताया कि मामले की जानकारी है। उच्चाधिकारियों की आड़ लेकर बात करना गलत है। अधिकारियों के मान सम्मान का ख्याल रखना चाहिए। भविष्य में ऐसी घटना न हो, यह सुनिश्चित करना चाहिए। की कोई चर्चा नहीं की गई है। सारे आरोप गलत व निराधार है। विद्या शर्मा, उपाध्यक्ष, नगर पंचायत डौंडीलोहारा ने बताया कि अध्यक्ष पति को पीआईसी के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है। ऋषिकेश तिवारी, एसडीएम डौंडीलोहारा मामला मेरे संज्ञान में आया है। उच्चाधिकारियों के मार्गदर्शन में नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned