ट्रैफिक जवानों को अब तपती धूप से मिलेगी राहत, जल्द मिलेगा AC वाला हेलमेट

ट्रैफिक जवानों को अब तपती धूप से मिलेगी राहत, जल्द मिलेगा AC वाला हेलमेट

Bhawna Chaudhary | Publish: Jun, 22 2019 05:33:52 PM (IST) | Updated: Jun, 22 2019 05:37:59 PM (IST) Baloda Bazar, Baloda Bazar, Chhattisgarh, India

गर्मी और तेज धूप से परेशान जवानों को देखते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने प्रदेश के सभी ट्रैफिक जवानों (Traffic Police) को एसी हेलमेट की सुविधा से लैस करने का प्रस्ताव सरकार के पास भेजा था, जिसे तत्काल मंजूर कर लिया गया है।

भाटापारा (सूरजपुरा). अब तपती धूप में ट्रैफिक जवान (Traffic Police) कूल-कूल रहेंगे। डीजीपी के आदेश के बाद यातायात सिपाहियों को एसी हेलमेट दिया जाने की राह खुल गई है। आदेश के बाद बलौदा बाजार जिले में काम कर रहे लगभग 40 ट्रैफिक जवानों को यह हेलमेट मिल सकेगा। तपती और चिलचिलाती तेज धूप केवल गर्मी में ही नहीं, हर मौसम में परेशान करती है। राहगीर या अन्य तो छांव की तलाश और सहारा पाकर आराम कर लेते हैं, लेकिन ट्रैफिक जवानों को हमेशा धूप में ही रहकर काम करना होता है।

इस बार की गर्मी और तेज धूप ने इन जवानों का जो हाल कर रखा है उसे देखते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने प्रदेश के सभी ट्रैफिक जवानों को एसी हेलमेट की सुविधा से लैस करने का प्रस्ताव सरकार के पास भेजा था, जिसे तत्काल मंजूर कर लिया गया है। खरीदी का काम भी चालू कर लिए जाने की खबर आ रही है। याने बहुत जल्द ट्रैफिक जवानों के सिर पर एसी हेलमेट नजर आएंगे।

जिले के 40 जवान रहेंगे कूल-कूल
फिलहाल प्रयोग के दौर से गुजर रही यह योजना यदि सफल रही तो बलौदा बाजार जिले के विभिन्न शहरों में काम कर रहे लगभग 40 ट्रैफिक जवानों को हाईटेक एसी हेलमेट दिया जाएगा जो पूरा दिन भारी गर्मी और तेज धूप में घंटों सडक़ पर खड़े रहकर यातायात नियंत्रित करने का काम कर रहे हैं।

ऐसा है हाईटेक एसी हेलमेट
यह हेलमेट बैटरी व चिप से चलता है। खासतौर पर धूप और गर्मी में काम करने वालों के लिए ही डिजाइन किए गए और बनाए गए इस हेलमेट में लगी बैटरी को मोबाइल की तरह चार्ज किया जा सकता है। एक बार की चार्जिंग में यह बैटरी 4 से 6 घंटे तक लगातार काम कर सकती है। इसमें लगा चिप इस बैटरी की मदद से हेलमेट में कूलिंग सिस्टम को ऑपरेट करता है। इस चिप की लाइफ 11 साल है तो बैटरी की लाइफ डेढ़ से 2 साल की है। प्रति हेलमेट की लागत डेढ़ से दो हजार रुपए के आसपास है।

मुख्यालय में चल रहा प्रयोग
डीजीपी डीएम अवस्थी के प्रयासों के बाद मिली मंजूरी से पुलिस मुख्यालय में हाईटेक एसी का परीक्षण चल रहा है। परीक्षण सफल रहा तो प्रदेश के सभी ट्रैफिक जवानों (Traffic police) को इसका वितरण किया जाएगा। जैसी जानकारी मिल रही है उस पर यदि भरोसा किया जाए तो परीक्षण का पहला दौर सफल रहा है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned