इस शहर में रास्तों की स्ट्रीट लाइट बंद, लोग हो रहे हादसे का शिकार फिर भी कोई सुधार नहीं

Deepak Sahu

Publish: Jul, 13 2018 05:34:17 PM (IST)

Baloda Bazaar, Chhattisgarh, India
इस शहर में रास्तों की स्ट्रीट लाइट बंद, लोग हो रहे हादसे का शिकार फिर भी कोई सुधार नहीं

लगातार हादसों को देखते हुए जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा इस दिशा में अब तक कोई पहल नहीं की जा रही है।

बलौदाबाजार. बारिश का मौसम होने और बीते कुछ माह से सड़क दुर्घटनाओं के बढऩे के बावजूद नगर के अंबेडकर चौक की सिग्नल लाइट व मुख्य मार्ग, गौरव पथ, कलक्टर कार्यालय रोड की अधिकांश स्ट्रीट लाईटें बंद होने की वजह से नगरवासियों को बेहद परेशानी हो रही है।लगातार हादसों को देखते हुए जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा इस दिशा में अब तक कोई पहल नहीं की जा रही है। इसकी वजह से सड़क दुर्घटनाओं के साथ ही साथ छेड़छाड़ जैसे मामलों की संख्या भी बढ़ी है।

बता दे कि नगर के अंबेडकर चौक में ट्रैफिक लाईट को लगभग दो वर्ष पूर्व लगाया तो गया है, लेकिन अब तक पूरी तरह से चालू नहीं किया गया है।सड़क निर्माण के समय ट्रैफिक सिग्नल को अंबेडकर चौक में लगाया तो गया है, लेकिन नगर पालिका के जिम्मेदार अधिकारी बताते हैं, कि इन सिग्नल को नगर पालिका को हैंडओवर नहीं किया गया है। आश्चर्य की बात है, कि एक ओर जहां इन ट्रैफिक सिग्नलों को चालू नहीं किया गया है।

वहीं सिग्नल पर रायपुर के एक निजी महाविद्यालय, निजी कंपनियों के विज्ञापन बोर्ड को पखवाड़ेभर से अधिक समय से चालू कर दिया गया है। सूत्रों के अनुसार लाईट न चालू होने के पीछे असली वजह ट्रैफिक लाईट के बिजली बिल की जिम्मेदारी किस विभाग की होगी।यह तय नहीं होना है।जानकारी के अनुसार ट्रैफिक लाईट का बिजली बिल पुलिस विभाग देगा।नगर पालिका द्वारा जमा कराया जाएगा यह अभी तक तय नहीं हो पाया है।

स्ट्रीट लाइट बंद
नगर की अधिकांश स्ट्रीट लाईट बीते कई दिनों से बंद पड़ी है। इससे आए दिन रात में दुर्घटनाएं बढ़ी है।नगर की स्ट्रीट लाईट का बिल व मेंटनेंस नगर पालिका करती है। बावजूद इसके नगर के अधिकांश मुख्य मार्गों की स्ट्रीट लाईट कई दिनों से बंद है। स्ट्रीट लाईट के बंद होने से बीते कुछ दिनों में लोगों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्ट्रीट लाईट बंद होने की वजह से बीते कुछ दिनों में छेड़छाड़, मारपीट, दुर्घटनाएं जैसे अपराधों में तेजी आई है।

Ad Block is Banned