फसल बीमा को लेकर भड़के किसानों ने किया अनोखा प्रदर्शन, सरकार को दी श्रद्धांजलि

इस दौरान पुलिस और आंदोलन कर रहे किसानों में झूमाझटकी भी हुई

मैनपुर. फसल बीमा और सूखा राहत राशि की मांग को लेकर बुधवार को सैकड़ों किसानों ने दुर्गा मंच मैनपुर में उग्र धरना प्रदर्शन कर राज्य सरकार पर जमकर गुस्से का इजहार किया और अनोखा प्रदर्शन करते हुए एक मिनट मौन रखकर किसान विरोधी सरकार बताते हुए श्रद्धांजलि दे डाली। इसके पश्चात जंगी रैली निकाल नेशनल हाईवे मार्ग मैनपुर में चक्काजाम करने की कोशिश की, लेकिन पुलिस बल ने तत्परता के साथ आंदोलनकारी किसानों को सड़क से हटाते हुए विफल कर दिया। इस दौरान पुलिस और आंदोलन कर रहे किसानों में झूमाझटकी भी हुई।

दोपहर 12 बजे सैकड़ों किसानों ने दुर्गामंच मैनपुर में पूजा अर्चना कर किसान संघर्ष समिति के बैनर तले फसल बीमा एवं सूखा राहत राशि की मांग को लेकर उग्र धरना प्रदर्शन किया। धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष टीकम सिंह कपील ने कहा फिर एक बार क्षेत्र के हजारों किसान फसल बीमा के नाम पर लूट और धोखाधड़ी का शिकार हुए हैं। विकासखंड में 6028 किसानों ने अपनी मेहनत की पैसा लगाकर फसल का बीमा कराया लेकिन क्षेत्र में 5 हजार किसानों को फसल बीमा से वंचित कर दिया गया है। इस समस्या को लेकर गरियाबंद जिला के कलेक्टर को भी ज्ञापन सौंप चुके हैं, लेकिन किसानों के इस दुख की घड़ी में न तो अधिकारी साथ दे रहे हैं न ही विधायक, सांसद। उन्होंने कहा आगामी 6 जून तक सभी किसानों को फसल बीमा दिया जाये नहीं तो हम उग्र आंदोलन करेंगे।

जनपद सदस्य संजय नेताम, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष प्रेमसाय जगत सहित कई किसान नेताओं ने धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए भाजपा सरकार पर जमकर बरसे। धरना प्रदर्शन के बाद किसानों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते जंगी रैली मैनपुर नगर में निकाली और बस स्टैण्ड के पास नेशनल हाईवे मार्ग पर बैठकर चक्काजाम करने की कोशिश की। धरना प्रदर्शन में प्रमुख रूप से किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष टीकम सिंह कपील, हेमंिसंग नेगी, प्रेमसाय जगत, संजय नेताम, पुरन मेश्राम, रामकृष्ण ध्रुव, महेन्द्र साहू, गौकरण नेताम, कोमलसिंग ठाकुर, पूर्व जिला पचायत सदस्य अमृतलाल नागेश, सियाराम ठाकुर, जनपद सदस्य सुकचंद ध्रुव, सरपंच ईश्वर नागेश, देवन नेताम, एनएसयूआई विधानसभा अध्यक्ष प्रवीण बाम्बोड़े, डोमार साहू, जयगोपाल ठाकुर, पिलेश्वर सोरी, बृजलाल सोनवानी, तनवीर राजपूत, रामचंद परदे सहित लगभग 30 ग्रामों के सैकड़ों किसान शामिल रहे।

6 जून से उग्र आंदोलन की चेतावनी
किसान संघर्ष समिति के संरक्षक हेमसिंग नेगी ने कहा जब से प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है किसान सबसे ज्यादा परेशान और त्रस्त है और लगातार प्रदेश सरकार और बीमा कंपनियों द्वारा किसानों को ठगा जा रहा है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा आने वाले वर्ष में कोई भी बैंक के अधिकारी किसान को कर्ज लेते समय जबर्दस्ती फसल बीमा की राशि नहीं काटे। उन्होंने 6 जून से आंदोलन की चेतावनी दी है।

चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned