पीएम आवास का लाभ लेने रोजगार सहायक ने पक्का मकान को बताया कच्चा, ग्रामीणों ने जनदर्शन में डीएम से की शिकायत

प्रधानमंत्री आवास में ग्राम के पात्रों को छोडक़र खुद अपने पक्के मकान को कच्चा दर्शाकर राशि स्वीकृत कराने का मामला प्रकाश में आया है।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 05 Sep 2019, 09:00 PM IST

कसडोल. जनपद पंचायत कसडोल की ग्राम पंचायत हसुवा में रोजगार सहायक द्वारा प्रधानमंत्री आवास में ग्राम के पात्रों को छोडक़र खुद अपने पक्के मकान को कच्चा दर्शाकर राशि स्वीकृत कराने का मामला प्रकाश में आया है। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत जनदर्शन में डीएम से की है।

यह है मामला
कसडोल विकासखंड के ग्राम हसुवा में प्रधानमंत्री आवास योजना में गरीब हितग्राही के बजाय ग्राम के ही रोजगार सहायिका ने अपने पिता के नाम फार्र्म भरकर आवास स्वीकृति करा लिया है। जबकि रोजगार सहायिका का खुद का 5-6 कमरों का पक्का मकान निर्मित है। लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने के लिए जमा किए फार्म में कच्चा मकान को दर्शाकर शासन को गुमराह किया। जब इस संबंध में जानकारी लेने के लिए रोजगार सहायिका के मोबाइल पर कई बार संपर्क किया गया तो उनके द्वारा कॉल रिसीव नहीं किया गया।

इन्होंने की शिकायत
27 अगस्त को ग्राम के गोरेलाल साहू, रामदुलारी साहू, शैलेश साहू व मोतीलाल साहू ने कलेक्टर जनदर्शन में पहुंच कर डीएम को पूरे मामले की जानकारी देकर लिखित में शिकायत की। जिस पर डीएम ने तत्काल मामले की जांच के लिए जिला सीईओ को स्थानान्तरित कर दिया। शिकायत में ग्रामीणों ने ग्राम के रोजगार सहायक, सचिव व सरपंच को पीएम आवास में स्वीकृत कराने का अहम योगदान बताया।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned