दूर था अस्पताल और दर्द से तड़प रही थी महिला, जान का खतरा देख ईएमटी ने एम्बुलेंस में ही कराई डिलीवरी

महिला का बढ़ता देख ईएमटी सुरेश वर्मा और कैप्टन भूपेंद्र गनहरे ने एम्बुलेंस (Ambulance) को साइड लगाकर बच्चे का प्रसव कराया।

By: Bhawna Chaudhary

Updated: 24 Mar 2020, 08:04 AM IST

पलारी. सरकार द्वारा चला जा रहे छतीसगढ़ महतारी एक्सप्रेस गर्भवती महिलाओं के लिए वरदान साबित हो रहा है। इसी कड़ी में ग्राम तमोरी निवासी चंद्रिका बाई ने एम्बुलेंस (Ambulance) में ही जुड़वा बच्चों को जन्म दिया है।

चंद्रिका बाई पति श्यामलाल धु्रव को रात में करीब 12 बजे दर्द बढ़ गया जिसके बाद पति ने तत्काल 102 पर कॉल किया। जहां ग्राम रोहासी में खड़ी महतारी एक्सप्रेस एंबुलेंस मदद के लिए पहुंची।वहीं घर से अस्पताल लाते समय रास्ते में ही महिला का दर्द बढ़ गया जिसके बाद ईएमटी सुरेश वर्मा और कैप्टन भूपेंद्र गनहरे ने एंबुलेश को साइड लगाकर पहले बच्चे का प्रसव कराया।

इसके बाद महिला के अटेंडर ने बताया है की नर्स ने चेकअप के दौरान जुड़वा होने की बात कही थी तब ईंएमटी ने दूसरे बच्चे का भी प्रसव करना जरूरी समझा क्योकि हॉस्पिटल बहुत दूर था। अपनी समझदारी से और सूझबूझ से दूसरे बच्चे का भी सुरक्षित प्रसव कराया गया। वही ईएमटी ने बताया कि दोनों बच्चे बालक है। इसके बाद बच्चे और मां को सही सलामत जिला अस्पताल पहुंचाकर भर्ती कराया।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned