अटैचमेंट टीचरों को वापस लौटने के आदेश, नहीं तो होगी अनुशासनात्मक कार्रवाई

इस कड़े आदेश के बाद क्षेत्र की स्कूलों से मनचाही स्कूलों और जगहों पर गए टीचरों (Government Teacher) में हडक़ंप की स्थिति देखी जा रही है। ऐसे टीचरों को भी अपनी मूल शाला में पढ़ाने जाना होगा, जिन्होंने विभाग मुख्यालय (Education Department) सहित दूसरे विभाग में अपनी तैनाती करवाई हैं।

By: Anjalee Singh

Published: 24 Jun 2019, 06:09 PM IST

भाटापारा (सूरजपुरा). टीचरों का अटैचमेंट खत्म। तत्काल प्रभाव से 24 जून से अपनी मूल शालाओं (Goverment teacher) में लौटें अन्यथा अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इस कड़े आदेश के बाद क्षेत्र की स्कूलों से मनचाही स्कूलों और जगहों पर गए टीचरों में हडक़ंप की स्थिति देखी जा रही है। ऐसे टीचरों को भी अपनी मूल शाला में पढ़ाने जाना होगा, जिन्होंने विभाग मुख्यालय सहित दूसरे विभाग में अपनी तैनाती करवाई हैं।अटैचमेंट की सुविधा खत्म करने के आदेश के बाद समूचे जिले में हलचल देखी जा रही है। खासकर भाटापारा ब्लॉक में यह हलचल कुछ ज्यादा ही देखी जा रही है, क्योंकि अपनी राजनीतिक पहुंच के दम पर अध्यापन के काम से बचने के लिए खंड शिक्षा मुख्यालय सहित दूसरे विभागों में अपनी तैनाती करवाई है। संचालक लोक शिक्षण के आदेश के बाद अब यह सभी स्कूलों में लौटने के लिए बाध्य होंगे। आदेश में साफ शब्दों में कहा गया है कि तत्काल अपनी उपस्थिति 24 जून को अपनी मूल शाला में दें अन्यथा अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

लगभग 35 टीचर लौटेंगे
भाटापारा ब्लॉक में इस आदेश के बाद अटैचमेंट में काम कर रहे लगभग 35 टीचरों को 21 जून को आदेश जारी कर दिया गया है। कहा गया है कि प्रधानपाठक अटैचमेंट में चल रहे टीचरों को तत्काल कार्य मुक्त करें। टीचरों को जारी आदेश में कहा गया है कि वे अनिवार्य रूप से 24 जून को अपनी मूल शाला में उपस्थिति दें।

इन्हें भी जाने के आदेश
21 जून को जारी आदेश में अध्ययन-अध्यापन के काम में लगे टीचरों को अपनी मूल शालाओं में लौटने का आदेश उन टीचरों पर भी समान रूप से प्रभावी होगा जो खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय से लेकर दूसरे विभाग में काम कर रहे हैं। जिला शिक्षा अधिकारी ने दो टूक शब्दों में कहा हैं ‘टीचर हैं तो उन्हें स्कूल जाना ही होगा चाहे, वह इस वक्त कहीं भी काम क्यों ना कर रहे हो।’ इस आदेश के बाद ऐसे टीचरों में सबसे ज्यादा हलचल देखी जा रही है।

आदेश से ये मुक्त
एकल शिक्षक और शिक्षकविहीन स्कूलों में अटैचमेंट में चल रहे टीचरों को इस आदेश से मुक्त रखा गया है। आदेश में कहा गया है कि वे पूर्व की भांति अपने कार्य करते रहेंगे। यह इसलिए, क्योंकि इनका अटैचमेंट खत्म करने के आदेश से यदि ये लौट जाते तो ऐसी स्कूलें बंद हो जाती। इसलिए यह आदेश ऐसे स्कूलों में प्रभावी नहीं होगा।

अटैचमेंट खत्म करने के आदेश के बाद ब्लॉक के 35 टीचरों को तत्काल कार्यमुक्त करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। इन्हें 24 जून से ही अपनी मूल पदस्थापना वाली स्कूलों में लौटना होगा। प्रधानपाठकों को भी निर्देशित किया जा चुका है कि वे आदेश मिलते ही तत्काल ऐसे टीचरों को कार्यमुक्त करें।
एएस धृतलहरे,
खंड शिक्षा अधिकारी, भाटापार

टीचर हैं तो अपनी मूल पदस्थापना वाली स्कूल में लौटना ही होगा। चाहे वह कहीं भी काम कर रहे हों। सभी को यह आदेश मानना होगा अन्यथा नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
एके भार्गव, जिला शिक्षा अधिकारी,बलौदा बाजार

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

Anjalee Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned