तोता की तस्करी जोरों पर, नशीला पदार्थ खिलाकर लक्जरी गाड़ियों से हो रही सप्लाई

वनांचल के पहाड़ी क्षेत्र से लगातार सुआ (तोता) की तस्करी बड़े पैमाने पर की जा रही है।

मैनपुर. मुख्यालय मैनपुर के आदिवासी वनांचल के पहाड़ी क्षेत्र से लगातार सुआ (तोता) की तस्करी बड़े पैमाने पर की जा रही है। एक संगठित तौर पर यह तस्करी हो रही है जिसके कारण क्षेत्र में तोता विलुप्ति के कगार पर पहुंच रहा है। लेकिन वन विभाग इस मामले में कार्रवाई नहीं कर रहा है। तस्करी के दौरान कई तोते ठीक से दाना-पानी नहीं मिलने के कारण काफी कमजोर भी हो जाते हैं इनमें से कुछ बहुत छोटे बच्चे होते हैं जिन्हें तस्कर पकड़ लेते हैं।

वन्य जीवों की तस्करी पर पूरी तरह से प्रतिबंध होने के बावजूद भी मैनपुर, कुल्हाड़ीघाट, इंदागांव, उदंती, सीतानदी टाईगर रिजर्व क्षेत्र के जंगल तोते की तस्करी में कुख्यात हो रहे हैं। इन इलाकों से बड़े पैमाने तोता के अलावा अन्य दुर्लभ पक्षियों की तस्करी की जा रही है। इन पक्षियों की बड़े शहरों में अच्छी खासी मांग होने के कारण तस्कर संगठित होकर तस्करी कर रहे हैं। इसी शौक के कारण आज राजकीय पक्षी पहाड़ी मैना लगभग विलुप्त हो चुकी है।

पांच सौ रुपए में खरीदते हैं पंद्रह सौ तक बिकता है
वहीं वन विभाग की उडऩदस्ता टीम ने कुछ वर्ष पहले क्षेत्र में बस्ता और बटेर बेचने के खिलाफ कार्रवाई की थी। लेकिन अब कार्रवाई बंद हो चुकी है जिसके कारण तस्करी करने वालों के हौंसले बुलंद हो चुके हैं। वे तोता व अन्य सुरीली आवाज वाले पक्षियों को पकड़कर बांस की टोकरी में रखकर तस्करी कर रहे हैं। इसके लिए लक्जरी गाडिय़ों का इस्तेमाल किया जा रहा है। जो तोता जंगल से 500 रुपए में खरीदा जाता है उसे शहरों में एक हजार रुपए से 1500 रुपए तक बेचा जा रहा है।

फरवरी से अप्रैल तक अधिक तस्करी
तोता या अन्य पक्षी पकडऩे के लिए तस्कर इनके घोंसलों में नशीला पदार्थ रख देते हैं। जिससे पक्षी बेहोश हो जाते हैं। इसके बाद इन्हें पकड़कर टोकरी में बंद कर दिया जाता है फिर इनकी तस्करी शुरू हो जाती है। इन्हें बड़े शहरों में ऊंचे दामों पर बेचा जाता है। कई बार फंदे बनाकर भी इन्हें पकड़ा जाता है। पहाड़ी व जंगली क्षेत्रों में रहने वाले ग्रामीणों ने बताया कि क्षेत्र से फरवरी से अपै्रल माह मे हजारों की तादाद में तोता, करण सुआ, मंझाली व छोटे सुआ (तोता) की तस्करी की जाती है जो वनों मे कम, लोगों के घरों के पिंजरे में ज्यादा दिखते है।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned