फरार नर्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार, नसबंदी करने से हुई थी महिला की मौत

फरार नर्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार, नसबंदी करने से हुई थी महिला की मौत

Bhawna Chaudhary | Updated: 04 Jun 2019, 09:00:00 PM (IST) Baloda Bazar, Baloda Bazar, Chhattisgarh, India

महिला मरीज पूर्णिमा पाल की मौत के बाद से फरार नर्स डागेश्वरी यदु को बलौदा बाजार सिटी कोतवाली पुलिस टीम ने दिल्ली से लगे क्षेत्र सिकंदराबाद से गिरफ्तार कर लिया है।

बलौदा बाजार. छत्तीसगढ़ के पलारी ब्लाक की महिला मरीज पूर्णिमा पाल की मौत के बाद से फरार नर्स डागेश्वरी यदु को बलौदा बाजार सिटी कोतवाली पुलिस टीम ने दिल्ली से लगे क्षेत्र सिकंदराबाद से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस टीम मंगलवार सुबह तक उसे लेकर बलौदा बाजार पहुंचेगी। मामले के खुलासे के बाद प्रशासन द्वारा कार्रवाई की भनक लगने के बाद से ही वह फरार थी। जिसे पकडऩे के लिए पुलिस विभाग की तीन अलग-अलग टीम खोजबीन कर रही थी।

विदित हो कि महिला मरीज पूर्णिमा पाल की मौत का पूरा मामला बलौदा बाजार जिले के पलारी ब्लॉक के गुमा गांव का है। जहां 20 मई को अपने मायके आई चार बच्चों की मां पूर्णिमा पाल ने अपने घरवालों के कहने पर नसबंदी कराने बलौदा बाजार में रहने वाली एएनएम डागेश्वरी यदु से संपर्क किया। डागेश्वरी ने पूर्णिमा पाल से 7 हजार रुपए लेकर नसबंदी करने की बात कही। 22 मई को अचानक पूर्णिमा की तबीयत खराब हो गई, जिसे रात 8 बजे लेकर घर वाले फिर नर्स डागेश्वरी के घर पहुंचे।

नर्स ने एक दिन घर पर ही इलाज किया और 23 तारीख को डेढ़ बजे डिस्चार्ज कर दिया। इस बार नर्स ने पीडि़ता के परिजनों से रुपए भी लिए, लेकिन रात को पूर्णिमा की फिर तबीयत खराब हुई। जिसकी जानकारी परिजनों द्वारा एएनएम डागेश्वरी को दी गई। मामले बिगड़ता हुआ देखकर उन्होंने परिजनों को पूर्णिमा को रायपुर ले जाने की बात कही। रायपुर ले जाने के बाद पूर्णिमा की तबीयत लगातार खराब होती गई और अंतत उसकी मौत हो गई।

पूर्णिमा के परिजनों ने मामले में सिविल लाइंस थाना रायपुर में रिपोर्ट दर्ज कराई है। मामले के खुलासे के बाद जिला प्रशासन के निर्देश पर कलक्टर द्वारा गठित टीम ने नर्स के लोहिया नगर के घर को सील किया गया तथा मृतका पूर्णिमा पाल के परिजनों का बीते मंगलवार को बयान दर्ज कराया गया।

बयान को लेकर पुलिस द्वारा खुलासा नहीं किया गया है। परंतु बयान में नर्स डागेश्वरी द्वारा अपने घर में बनाए गए क्लीनिक में ही उपचार किए जाने की बात कहे जाने की जानकारी प्राप्त हुई है। परिजनों के बयान के बाद नर्स डागेश्वरी यदु के खिलाफ धारा 304 तथा मेडिकल से जुड़ी अन्य धाराओं के अनुसार एफआईआर दर्ज की गई है। मामले के खुलासे के बाद से ही आरोपी नर्स फरार हो गई थी।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned