सांसद के पीएसओ की कोरोना रिपोर्ट क्या आई, पत्रकारों को किया क्वारंटाइन

- होम क्वारंटाइन करने का मामला तूल पकड़ा
- पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप नगर में भय का वातावरण उत्पन्न करने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग

By: Bhupesh Tripathi

Published: 05 Jul 2020, 07:54 PM IST

बलौदाबाजार. शुक्रवार को सांसद सुनील सोनी के पीएसओ की कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के बगैर जानकारी के प्रभारी सिटी कोतवाली निरीक्षक विजय चौधरी के द्वारा नगर के करीब एक दर्जन पत्रकारों समेत भाजपा के नेताओं को विवादित तरीके से होम क्वारंटाइन करने का मामला तूल पकड़ लिया है। पत्रकारों के घर शुक्रवार देर रात जाकर पहले तो होम क्वारंटाइन पर्ची चिपकाई गई, पश्चात रात्रि में ही उनसे आधार कार्ड की प्रति जमा कराने कहा गया। निरीक्षक के गैर जिम्मेदार रवैय्ये के चलते रात्रि से ही नगरवासियों समेत जिन मोहल्लों में पत्रकार निवासरत हैं वहां के लोग अनहोनी की आशंका से भयभीत होकर रात भर पत्रकारों से कुशलक्षेम पूछते रहे।

पूरे मामले के बाद शनिवार की दोपहर निरीक्षक सिटी कोतवाली के गैर जिम्मेदार रवैय्ये से आक्रोशित पत्रकारों ने धरना प्रदर्शन पश्चात पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप कर नगर में भय का वातावरण उत्पन्न करने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की गई। नगर में व्याप्त चर्चा के अनुसार गत शनिवार को नगर में घटित दो चाकूबाजी की घटना व भाजपा नेता की जघन्य हत्या के बाद समाचार पत्रों में मुखरता के साथ समाचार प्रकाशित किया गया था, जिसके चलते निरीक्षक सिटी कोतवाली द्वारा दबंगई दिखाते हुए पत्रकारों को घर में बंद रखने की साजिश की गई।

गौरतलब है भाजपा के युवा नेता भक्ति यादव की जघन्य हत्या के बाद 29 जून को सांसद सुनील सोनी अधिकारियों की बैठक लेने बलौदा बाजार पहुंचे थे। बैठक के बाद भाजपा जिला कार्यालय में सोशल डिस्टेंस के साथ पत्रकार वार्ता सम्पन्न हुई थी। पश्चात सांसद भाटापारा विधायक समेत भाजपा के प्रमुख नेता भक्ति यादव के परिजनों से मुलाकात करने उनके निवास भी गए थे, वहीं 3 जुलाई को सांसद के पीएसओ की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आने की जानकारी प्राप्त हुई, जिसके बाद पुलिस द्वारा बगैर किसी कांटेक्ट ट्रेसिंग तथा स्वास्थ्य विभाग के कोरोना गाईड लाईन के पालन किए बिना ही देर रात पत्रकारों और भाजपा नेता के घर पहुंच कर क्वारंटाइन की पर्ची दरवाजे पर चिपकाना प्रारंभ कर दिया गया जिसके चलते पूरे नगर में हड़कंप मच गया। यही नहीं घरों में सो रहे पत्रकारों को जगाकर उनसे रात्रि में ही आधार कार्ड की मांग निरीक्षक सिटी कोतवाली द्वारा किया गया।

इस दौरान टीआई का रवैय्या इस तरह था कि वे पत्रकारों को क्वारंटाईन करने की बजाय किसी आरोपी की तलाश में पहुंचे हैं। निरीक्षक के इस रवैय्ये से जिला के पत्रकार आक्रोशित हो गए एवं शनिवार दोपहर 1 बजे से शोसल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए नारेबाजी कर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा।

स्वास्थ्य विभाग ने कोई सूची जारी नहीं की

इस संबंध में जिला स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ. खेमराज सोनवानी से चर्चा किए जाने पर उन्होंने बताया कि गाईड लाईन के अनुसार किसी भी मरीज के प्रायमरी कांटेक्ट में आए लोगों को पहले होम क्वारंटाईन करने का प्रावधान है। नोडल अधिकारी कोविड डॉ. राकेश प्रेमी ने कहा कि किसी भी मामले में कांटेक्ट ट्रेसिंग पहले किया जाना आवश्यक है। बलौदाबाजार के पत्रकारों के मामले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोई ट्रेसिंग फिलहाल नहीं किया गया है और न ही कोई सूची जारी की गई है। सिटी कोतवाली निरीक्षक स्वयं सूची लेकर पहुंचे थे यह सूची उन्हें कहां से प्राप्त हुई वे ही बता सकते हैं।

टीआई को हटाने की मांग

शनिवार को नव पदस्थ पुलिस अधीक्षक इंदिरा कल्याण ऐलेसेला को पत्रकारों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने लिखित ज्ञापन सौंपा। चर्चा में ऐलेसेला ने कहा कि पूरे मामले में मिस कम्यूनिकेशन हुआ है। आनन-फानन में रात्रि में पत्रकारों व अन्य लोगों के यहां क्वारंटाईन की पर्ची चिपकाने से भय की स्थिति निर्मित हुई है। मामले की जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

जिलाधीश सुनील जैन ने पीआरओ के माध्यम से संदेश दिया कि पुलिस द्वारा आनन-फानन में क्वारंंटाईन पर्ची चिपकाई गई है। शासकीय कर्मचारियों को भेज कर ऐसी पर्चियों को निकलवाया जाएगा।

इस दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष डॉ. सनम जांगड़े, नगर पालिका अध्यक्ष चितावर जायसवाल, कृष्णा अवस्थी, शहर मण्डल अध्यक्ष संकेत शुक्ला, पुरुषोत्तम सोनी, रितेश श्रीवास्तव, प्रणम्य पाण्डेय आदि कार्यकर्ताओं द्वारा पुलिस अधीक्षक से सिटी कोतवाली टीआई विजय चौधरी की कार्यप्रणाली की जमकर शिकायत करते हुए उनका सिटी कोतवाली से तत्काल स्थानांतरण किए जाने की मांग भी की गई।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned