घटिया निर्माण पर सब इंजीनियर निलंबित, EE और SDO को नोटिस

Chandu Nirmalkar

Publish: Dec, 07 2017 06:26:49 (IST)

Baloda Bazaar, Chhattisgarh, India
घटिया निर्माण पर सब इंजीनियर निलंबित, EE और SDO को नोटिस

गुणवत्ताहीन निर्माण की लगातार शिकायतों के बाद जल संसाधन विभाग के सचिव सोनमणी बोरा द्वारा बुधवार को लाईनिंग कार्यों का औचक निरीक्षण किया गया।

बलौदाबाजार. बलौदाबाजार जल संसाधन संभाग के अंतर्गत बीबीसी तथा एलबीसी नहरों के साथ ही साथ इन नहरों की शाखा नहरों में वर्तमान में करोड़ों रुपयों के लाईनिंग कार्य किया जा रहा है। गुणवत्ताहीन निर्माण की लगातार शिकायतों के बाद जल संसाधन विभाग के सचिव सोनमणी बोरा द्वारा बुधवार को लाईनिंग कार्यों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान कार्यों का बारीकी से मुआयना करने पर गंभीर लापरवाही के साथ ही साथ गुणवत्ताहीन कार्य का पता चला है, जिस पर सब इंजीनियर को निलंबित कर ईई और एसडीओ को नोटिस जारी किया गया है। सचिव जल संसाधन सोनमणि बोरा ने पलारी तहसील के अंतर्गत निर्माणाधीन नहर के लाईनिंग के कार्यों का औचक निरीक्षण करते हुए कार्यों की गुणवत्ता से रूबरू हुए।

निरीक्षण के दौरान निर्माण कार्यों में कोताही बरतने के कारण उप अभियंता सीबी कोरियन को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया। कार्यपालन अभियंता संजय दीक्षित, अनुविभागीय अधिकारी जल संसाधन एनके पाण्डे को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। सचिव ने नहर की लाईनिंग कार्यों की जांच रिपोर्ट एवं भुगतान प्रक्रिया की विस्तारपूर्वक जानकारी एक सप्ताह के अंदर मुख्य अभियंता जल संसाधन एसवी भागवत के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान प्रमुख अभियंता हेमराज कोठारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

कांक्रीट वर्क टूटने पर सचिव बोरा नाराज
बुधवार को सचिव जल संसाधन सोनमणि बोरा ने तिल्दाबांधा से चुचरूंगपुर तक निर्माण कार्यों एवं गत वर्ष के कार्यों का निरीक्षण के दौरान स्लीपर एवं लाईनिंग कार्यों में गुणवत्तापूर्वक नहीं पाए जाने के कारण लगभग डेढ़ किमी के निर्माण कार्यों को तत्काल तोड़कर गुणवत्तापूर्वक निर्माण करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान आरडी 30100 मी से 31100 मी के मध्य में नहर बेड स्लोप में स्लीपर का निर्माण किया गया था। इन स्थानों की जांच की गयी तो निर्माण कार्य बेहद घटिया क्वालिटी का नजर आया। नियमानुसार स्लीपर का कांक्रीट वर्क मजबूत किया जाता है जो आसानी से नहीं टूटता है परंतु अधिकारियों ने जब इन स्थलों का मुआयना करते हुए स्लीपर को तोड़ा तो स्लीपर के आसानी से कांक्रीट टूटने पर सचिव सोनमणी बोरा ने बेहद नाराजगी व्यक्त की।

ठेकेदार पर भी कार्रवाई के निर्देश
विभागीय मापदण्डों के अनुरूप कांक्रीट कार्य नहीं कराए जाने पर इस स्थल पर पूर्ण लंबाई के स्लीपर को खंडित कर एवं मिट्टी को दबाकर पुन: निर्माण करने के निर्देश दिए। इस तरह आरडी 34100 मी से 34160 मी के मध्य के स्लोप में दरार पाए जाने पर बाएं साईड के 60 मी लंबाई को तत्काल सुधारने के निर्देश दिए। आरडी 32700 मी से 32730 मी लंबाई पेंच रिपेयर को पुन: निर्माण करने के लिए निर्देशित किया। इसी तरह 32400 मी के पास की 100 मी की लाईनिंग में दरार पाए जाने पर 30 मी की लाईनिंग को खंडित कर पुन: निर्माण और जिन स्थानों पर फिनिशिंग का कार्य गुणवत्तापूर्वक नहीं किए जाने के कारण ठेकेदार मेसर्स रानी सती ग्रुप ग्रेनाईट मनेन्द्रगढ़ के विरूद्ध दंडात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए। मेसर्स एपी निर्माण एजेन्सी रायपुर द्वारा आरडी 36200 मी के पास मिट्टी को बिना दबाए स्लीपर के निर्माण करने पर तत्काल स्लीपर को खंडित कर पुन:बनाने के लिए निर्देशित किया। सचिव जल संसाधन ने क्वालिटी कंट्रोल से संबंधित अमले को चेतावनी दी कि पारदर्शिता के साथ जांच नहीं करने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned