भाइयों ने अपनी बहन को देख लिया था अनजान युवक के बाहों में, फिर खौफनाक वारदात को दिया अंजाम

भाइयों ने अपनी बहन को देख लिया था अनजान युवक के बाहों में, फिर खौफनाक वारदात को दिया अंजाम

Chandu Nirmalkar | Publish: Feb, 15 2018 08:11:17 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 08:13:02 PM (IST) Baloda Bazaar, Chhattisgarh, India

एक ट्रक ड्राईवर ने मृतक के बेटे को फोन कर इसकी सूचना दी।

बलौदाबाजार/सुहेला. सप्ताहभर पहले खेत में पड़ी मिली लाश के संबंध में हत्या की गुत्थी सुलझाने में पुलिस को सफलता मिल गई है। बलौदाबाजार पुलिस अधीक्षक आरएन दास के निर्देश पर भाटापारा एसडीओपी केबी द्विवेदी, क्राइम स्क्वाड प्रभारी नरेश चौहान एवं थाना प्रभारी सीआर चंद्रा की टीम ने संयुक्त रूप से जांच करते हुए मृतक की शिनाख्ति के साथ ही हत्यारों को भी पकड़ लिया है, जिन्हें धारा 302, 201, 34 के तहत न्यायालय में पेश किया जाएगा।

 

CG news

गौरतलब है कि यहां से 7 किमी दूर ग्राम नवापारा के एक खेत में बीते 7 फरवरी को एक अज्ञात शव पड़ा मिला था, वहां के सरपंच डॉ. दौलत पाल की सूचना पर पुलिस ने हत्या को सुलझाने जांच प्रारंभ किया। जिसमें सड़क एवं रेल परिवहन के वाहनों पर मृतक के फोटो के साथ पोस्टर चिपकाने वाला तरीका कारगर निकला। एक ट्रक ड्राईवर ने मृतक के बेटे को फोन कर इसकी सूचना दी।

Read More News: स्थापना के 12 साल बाद CSVTU को मिल सकता है सबसे भुलक्कड़ यूनिवर्सिटी का खिताब, आखिर क्यों यहां पढ़े

मृतक शिवनारायण लहरी (45 वर्ष) की शिनाख्ति के बाद पुलिस को आरोपियों तक पहुंचने में देर नहीं लगी और मामला अवैध संबंध का निकला, जिसकी वजह से महिला के तीन भाइयों द्वारा दो अन्य की मदद से धोखे से बुलाकर शिवनारायण की हत्या कर दी। कचलोन सरपंच रमेश कुमार महेश्वरी के बेटे ढालसिंह (32 वर्ष), राजेश कुमार उर्फ छोटू (20 वर्ष) व दलवंत सिंह उर्फ दिलावर (22 वर्ष) ने मृतक के गमछे से ही शिवनारायण गले में फंदा बनाकर हत्या कर दी।

Read More News: मजदूरों ने PM मोदी की इस योजना का किया बहिष्कार, अब गांव-गांव हो रहे खाली

हत्या में नवापारा दौरेंगा के मुकेश (24) व बासीन सुहेला के बीरसिंग उर्फ बीरु का साथ लिया और शव को मोटर साइकिल में तीन जंगलों से गुजारते हुए नवापारा गांव के रेलवे ट्रेक से सौ मीटर दूरी पर छोड़ दिया था।

Read More News: कम लागत में एेसे शुरू करें खेती, आप कमाएंगे लाखों

Ad Block is Banned