Sumo नहीं पलटती तो Patna पहुंच गया होता 1.5 क्विंटल गांजा, 3 तस्कर घायल

अंबिकापुर-राजपुर मार्ग स्थित चरगढ़ मोड़ पर सूमो पलटने से महिला व 2 युवक घायल, ऐसी-ऐसी जगह छिपा रखा था गांजा कि देखकर पुलिस के उड़ गए होश

अंबिकापुर/राजपुर. अंबिकापुर-रामानुजगंज मार्ग पर राजपुर से 6 किलोमीटर पूर्व चरगढ़ मोड़ पर गुरुवार की शाम तेज रफ्तार सूमो पलट गई। हादसे में वाहन में सवार एक महिला व 2 युवक घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को बाहर निकाला और वाहन को सीधा करवाया तो भीतर का नजारा देख उनकी आंखें फटी रह गईं।

पुलिस ने सूमो की सीलिंग व आगे-पीछे की सीट से कुल 73 पैकेट में करीब 1 क्विंटल 50 किलोग्राम गांजा बरामद किया। वाहन सवार ओडीशा से बिहार के पटना गांजा सप्लाई करने ले जा रहे थे। इसके बाद पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना का सबसे खास पहलू यह रहा कि यदि वाहन नहीं पलटती तो तस्कर गांजे की बड़ी खेप ले जाने में कामयाब हो जाते।
seized sumo

तस्करों द्वारा आजकल वाहनों में ऐसी-ऐसी जगह पर गांजा सहित अन्य मादक पदार्थों की तस्करी की जा रही है कि पुलिस भी आसानी से धोखा खा जाती है। ऐसा ही मामला अंबिकापुर-रामानुजगंज मार्ग पर गुरुवार की शाम 4 बजे चरगढ़ मोड़ पर देखने को मिला। अंबिकापुर से जा रही सूमो क्रमांक जेएच 05 ई-9380 मोड़ पर पहुंचते ही पलट गई।

हादसे में वाहन में सवार बिहार के पटना सिटी मारुगंज, सिमली सहदारा निवासी अमरजीत कुमार उर्फ अमर पिता बालेश्वर राय 23 वर्ष, ऋषिकेश कुमार उर्फ राजकिशोर पिता महेंद्र राय 20 वर्ष व नेहा देवी पति सुबोध सिंह 26 वर्ष घायल हो गए।

मौके पर पहुंची राजपुर व बरियों पुलिस ने जब उसकी चेकिंग की तो उसमें 1.50 क्विंटल गांजा निकला। सूचना पर एसडीओपी अविनाश ठाकुर, एसआई रुपेश नारंग, केपी सिंह, विवेक तिवारी, टेकेश्वर यादव सहित अन्य मौके पर पहुंचे।

कई थानों व चौकियों के नाक के नीचे से निकले तस्कर
तस्करों ने पुलिस को बताया कि वे ओडीशा के कोरापुट जिला स्थित सेमलगुड़ी से गांजा लेकर बिहार के पटना जा रहे थे। वे जगदलपुर-रायपुर-अंबिकापुर होते हुए पटना सिटी स्थित मुकेश यादव को सप्लाई करने वाले थे। अब सामने ये सवाल निकलकर आता है कि जगदलपुर से राजपुर जिले तक के बीच जगदलपुर, रायपुर, बिलासपुर, कटघोरा उदयपुर लखनपुर, अंबिकापुर, बरियों पुलिस की नाक के नीचे से होते हुए तस्कर वाहन में गांजा लेकर गुजरे।

लेकिन कहीं की भी पुलिस ने न तो उनकी चेकिंग की और न ही ऐसे वाहनों की अक्सर चेकिंग की जाती है। यदि वाहन नहीं पलटती तो तस्कर अपने मंसूबे में कामयाब हो जाते और पुलिस को पता भी नहीं चलता। ऐसे मामले अक्सर सामने आते हैं।

गांजा लूटने मच गई होड़
पुलिस जब गांजे के पैकेट सूमो के भीतर से निकाल रही थी तो कुछ पैकेट फटे हुए थे। इससे पैकेट निकालने के दौरान उसमें रखा गांजा नीचे गिर गया था। यहां से पैकेटों को तो पुलिस उठाकर अपने वाहन में ले गई। इसके बाद वहां उपस्थित लोग गिरे हुए गांजे को बटोरने में लग गए। कई लोग कुछ मात्रा में गांजा अपने साथ ले गए।
Show More
Pranayraj rana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned