दो सगी बहनों समेत 3 बच्चियों की डूबने से मौत, एक साथ निकली अर्थी तो रो पड़ा पूरा गांव, सीएम ने की 4-4 लाख देने की घोषणा

Big incident: चौथी को डूबने से ग्रामीणों ने बचाया, दोपहर में गांव के डबरी में नहाने पहुंची थी 5 बच्चियां, नहाने के दौरान गहरे पानी में चले जाने से डूबकर हो गई मौत

By: rampravesh vishwakarma

Published: 29 May 2020, 12:14 PM IST

रामानुजगंज. रामचंद्रपुर विकासखंड के ग्राम सिलाजु में आज दोपहर हृदय विदारक घटना घटी, इसने पूरे गांव को रुला दिया। दो मासूम बहनों समेत तीन बच्चियों की डबरी में नहाने के दौरान डूबने (Death to drowned) से मौत हो गई। घटना के बाद पूरे गांव में मातम पसर गया, वहीं घटना की सूचना पर एसडीओपी नितेश गौतम एवं रामचंद्रपुर थाना प्रभारी समेत पुलिस बल मौके पर पहुंचा।

तीनों बच्चियों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया। यह देख पूरा गांव रो पड़ा। इधर घटना की सूचना सीएम भूपेश बघेल ने शोक जताया। उन्होंने मृत बच्चियों के परिजनों को 4-4 लाख रुपए सहायता राशि देने की घोषणा की।


बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के रामचंद्रपुर विकासखंड अंतर्गत ग्राम सिलाजु के कलोरिया पारा में 10 से 13 वर्ष की 5 बच्चियां घर के नजदीक डबरी में दोपहर करीब 1 बजे के करीब नहाने गए थे नहानेे गईं थीं। इनमें 2 सगी बहनें संगीता 13 वर्ष व निर्मला भी थीं।

सभी डबरी में नहाने उतर गईं, इसी बीच गहरे पानी की ओर चले जाने से शंभू राम की दोनों बेटियां संगीता व निर्मला तथा मनोज की बेटी 12 वर्षीय पूजा देखते ही देखते डूब गईं, इससे उनकी मौत हो गई। (Drowned)

दो सगी बहनों समेत 3 बच्चियों की डूबने से मौत, एक साथ निकली अर्थी तो रो पड़ा पूरा गांव, सीएम ने की 4-4 लाख देने की घोषणा

अन्य बच्चियों की आवाज सुनकर गांव के लोग पहुंचे, उन्होंने बालेश्वर प्रजापति की 10 वर्षीय बेटी गुंजन को डुबने से बचा लिया। हो-हल्ला सुनकर सभी के परिजन समेत गांव वाले पहुंचे और उन्होंने सभी के शव को डबरी से बाहर निकाला। फिर इसी सूचना उन्होंने थाने में दी।


पुलिस ने पीएम के लिए भिजवाया शव
घटना की सूचना मिलते ही एसडीओपी नितेश कुमार गौतम एवं रामचंद्रपुर थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने तीनों बच्चियों के शव को पीएम के लिए अस्पताल भिजवाया। शुक्रवार को पीएम पश्चात उनका शव परिजन को सौंप दिया गया।


रो पड़ा पूरा गांव
शुक्रवार को अस्पताल से तीनों बच्चियों का शव उनके घर लाया गया। यहां तीनों का एक साथ अंतिम संस्कार किया गया। तीनों मासूमों की जब एक साथ अर्थी निकली तो पूरा गांव रो पड़ा। घटना से गांव में मातम पसरा हुआ है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned