ओडिशा का युवक झारखंड में रह रहा था किराए के मकान में, चचेरे भाई के साथ छत्तीसगढ़ में करता था लूट-उठाइगिरी

Chhattisgarh Crime: मुख्य सरगना गिरफ्तार और चचेरा भाई फरार, झारखंड से छत्तीसगढ़ के रामानुजगंज में व उसके आस-पास के इलाके में 5 वारदातों को दे चुका था अंजाम

रामानुजगंज. बलरामपुर जिले के रामानुजगंज व उसके आस-पास के क्षेत्र में बीते कुछ माह से लगातार हो रही उठाइगिरी, चोरी व लूट की घटनाओं के बाद पुलिस अधीक्षक टीआर कोशिमा के निर्देश पर रामानुजगंज थाना प्रभारी सुरेंद्र श्रीवास्तव के नेतृत्व में लगातार पतासाजी की जा रही थी। इसमें पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।

नगर में पांच अलग-अलग लूट, चोरी एवं उठाईगिरी की वारदात का मुख्य सरगना शंकर प्रधान को ओडिशा से काफी मशक्कत के बाद गिरफ्तार करने में रामानुजगंज पुलिस को सफलता मिली है। शंकर प्रधान के विरुद्ध धारा 379 एवं धारा 392, 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है। (Chhattisgarh Crime)

पुलिस ने शंकर प्रधान के पास से मोबाइल फोन, 35 हजार रुपए नकद बरामद किया। वहीं घटना में सहयोगी चचेरे भाई आंउला क्रांति निवासी ग्राम पूर्वकोट थाना कोरोई जिला जाजपुर ओडिशा फरार है।


गौरतलब है कि माह सितंबर 2019 से नगर में एकाएक चोरी उठाई गिरी एवं लूट की घटनाएं बढ़ गईं थीं। सितंबर 2019 से लेकर दिसंबर 2019 तक हुई पांच लूट चोरी एवं उठाईगिरी की घटना से नगर में दहशत का माहौल था एवं लुटेरे को पकडऩा पुलिस के लिए बड़ी चुनौती थी। रामानुजगंज पुलिस द्वारा लगातार घटना की विवेचना की जा रही थी।

पुलिस द्वारा अपराधियों को पकडऩे के लिए तकनीक का भी सहारा लिया गया। वहीं सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस के लिए कारगर साबित हुई। पुलिस ने डम्ब कॉल से प्राप्त अन्य मोबाइल नंबरों के सिम धारकों के एसडीआर से जिला पलामू के ग्राम पकरी थाना तरहसी के निवासी आलोक शर्मा का नंबर होना पाया, जो वर्तमान में चुनार उत्तर प्रदेश में रहकर प्राइवेट काम करता है।

जब रामानुजगंज पुलिस ने उससे संपर्क कर एक संदेही के नंबर के बारे में पूछताछ की तो नंबर को बारालोटा डाल्टेनगंज का होना बताया। इस पर बारालोटा जाकर जब एक महिला से संपर्क करने पर तथा सीसीटीवी फुटेज दिखाकर पूछने पर अहम सुराग लगे।

महिला ने फोटो की पहचान करते हुए बताया कि यह उस व्यक्ति की फोटो है जो सुनील भगत के किराए के मकान में अगस्त २2019 से जनवरी 2020 तक था। इसके बाद पुलिस को मकान मालिक से आरोपी के पता व मोबाइल नंबर की जानकारी मिली। इस आधार पर पुलिस ने ओडिशा में दबिश देकर आरोपी २३ वर्षीय शंकर प्रधान को गिरफ्तार किया।


6 राज्यों में चलती रही पतासाजी
नगर में लगातार हो रही घटनाएं पुलिस के लिए चुनौती से कम नहीं थी, इसके लिए पुलिस 5 माह से लगातार पतासाजी करते हुए छह राज्यों तक पहुंची एवं अंतत: आरोपी तक पुलिस पहुंची।


झारखंड में रहता था किराए के मकान में
घटनाओं के अंजाम देने के लिए ओडिशा से आकर झारखंड में किराए में रहता था। नगर में हुई सभी घटनाओं का मास्टरमाइंड शंकर प्रधान मूलत ओडिशा का रहने वाला था जो झारखंड में आकर किराए के मकान में रहता था। यहां से वह रामानुजगंज थाना क्षेत्र में अपने चचेरे भाई के साथ मिलकर सभी घटनाओं को अंजाम देता था।


कार्रवाई में ये रहे शामिल
आरोपी को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी सुरेंद्र श्रीवास्तव, उप निरीक्षक राजकुमार कश्यप, सहायक उपनिरीक्षक राजकुमार साहू, प्रधान आरक्षक राधेश्याम राम, आरक्षक नागेंद्र पांडे, राकेश तिवारी, अशोक, विनोद, सागर, जितेंद्र सिंह, मनीषा तिग्गा, अंजोलिका टोप्पो की महत्वपूर्ण भूमिका रही।


इन घटनाओं को दिया अंजाम
1. आरोपियों ने 11 मई 2019 को थाना बलरामपुर के तहसील कार्यालय के पास प्रार्थी राजकुमार गुप्ता पिता स्वर्गीय रामवृक्ष साव उम्र 53 वर्ष निवासी डूमरखोला के मोटरसाइकिल की डिक्की में रखे 70000 रुपए पार कर दिए थे।
2. 16 सितंबर 2019 को वार्ड क्रमांक 14 रामानुजगंज में कृषि विकास अधिकारी के घर के सामने प्रार्थी मुनेश्वर यादव की बाइक की डिक्की से 49 हजार 500 रुपए पार कर दिए थे।


3. 30 सितंबर 2019 को 12 वीं बटालियन रामानुजगंज में पदस्थ बृजमोहन पंडित द्वारा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि बबलू टेंट हाउस के सामने खड़ी गाड़ी से अज्ञात आरोपियों द्वारा मोटरसाइकिल की डिक्की तोडक़र 13 हजार 756 रुपए चुरा ले गए।
4. 9 12 2019 को प्रार्थी विंध्याचल यादव पिता विमल यादव उम्र 32 वर्ष निवासी कुंदरू द्वारा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई कि भारतीय स्टेट बैंक शाखा रामानुजगंज से 2 लाख रुपए नकद निकालकर अपने मोटरसाइकिल की डिक्की में रखे थे, जिसे चोरों ने पार कर दिए।


5. 18 दिसंबर 2019 को प्रार्थी रामवृक्ष यादव पिता शिवरतन यादव उम्र 51 वर्ष निवासी कलिकापुर द्वारा रिपोर्ट दर्ज कराई गई कि जब वह सहकारी बैंक रामानुजगंज से 35 हजार रुपए निकालकर अपने झोले में रखकर लरंगसाय चौक की ओर जा रहा था, इसी दौरान चौपाटी के पास दो अज्ञात लुटेरे रुपए लूटकर फरार हो गए।


मुख्य सरगना गिरफ्तार
मुख्य सरगना को गिरफ्तार कर लिया गया है। वही वारदातों में शामिल आरोपी के चचेरे भाई को भी जल्द पकड़ लिया जाएगा।
सुरेंद्र श्रीवास्तव, थाना प्रभारी, रामानुजगंज

बलरामपुर जिले की क्राइम की खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Crime in Balrampur

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned