Video : सीएम भूपेश ने तातापानी मंदिर में की पूजा, इस बात पर मंच से चेतावनी भरे लहजे में कहा- यहां बैठे अधिकारी सुन लें...

Video : सीएम भूपेश ने तातापानी मंदिर में की पूजा, इस बात पर मंच से चेतावनी भरे लहजे में कहा- यहां बैठे अधिकारी सुन लें...

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Jan, 14 2019 07:02:24 PM (IST) Balrampur, Balrampur, Chhattisgarh, India

मुख्यमंत्री ने तातापानी में मंच से की कई घोषणाएं, बिजली बिल हाफ करने समेत 3 पीढिय़ों से वनभूमि पर काबिज लोगों को पट्टा देने की घोषणा

रामानुजगंज/बलरामपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को तातापानी महोत्सव में शामिल हुए। सबसे पहले तातापानी मंदिर में उन्होंने पूजा की। यहां जन सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सरगुजा क्षेत्र में वन भूमि के पट्टे के प्रकरण अधिक संख्या में निरस्त किये गये हैं, इसकी जांच के लिये अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये गए हैं।

उन्होंने कहा कि वन अधिकार अधिनियम के तहत् 13 दिसम्बर 2005 के पहले वन भूमि पर काबिज और तीन पीढिय़ों से रह रहे लोगों को वन भूमि का पट्टा दिया जाएगा इसके साथ ही सामुदायिक पट्टे भी दिये जाएंगे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर स्थानीय विधायक की मांग पर तातापानी में 25 लाख की लागत से सामुदायिक भवन निर्माण कराने की घोषणा की।

 

उन्होंने कहा कि बलरामपुर-अंबिकापुर राष्ट्रीय राजमार्ग काफी जर्जर है। यहां बैठे अधिकारी सुन लें, इस मार्ग की तत्काल रिपेयरिंग कराएं। इसके अलावा उन्होंने वनांचल के रजबंधा से पिपराही मार्ग, चन्दौरा से चलगली मार्ग, बाहरचुरा से भीतरचुरा, पीपरपान से गाजर मार्ग में घाट कटिंग कराने के निर्देश भी अफसरों को दिए।


मुख्यमंत्री बघेल ने लोगों को मकर संक्रांति की बधाई देते हुये सरगुजा संभाग के मतदाताओं से कहा कि आपने संभाग की सभी 14 विधानसभा सीटों पर जीत दिलाई है, जिसकी किसी को कल्पना भी नहीं थी। उन्होंने कहा कि जनता के सहयोग से तीन चौथाई बहुमत से छत्तीसगढ़ में पहली बार सरकार बनी है।

बघेल ने कहा कि मुख्यमंत्री की शपथ लेने के बाद सबसे पहला काम किसानों का कृषि ऋण माफ करने का कार्य किया गया और इसके लिये किसानों की कृषि ऋण की कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि अभी फिलहाल सहकारी बैंक और ग्रामीण विकास बैंकों के कृषि ऋण माफ किये गये हैं और राष्ट्रीयकृत बैंकों के फसल ऋण भी माफ किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जहां किसानों से 25 सौ रुपए प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की जा रही है। पंचायत एवं लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री टीएस सिंहदेव ने सरगुजा क्षेत्र में पहली बार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आने पर लोगों को करतल ध्वनि से स्वागत करने का आह्वान किया। उन्होंने लोगों को मकर संक्रांति की बधाई और शुभकामनाएं दी।


ये थे उपस्थित
कार्यक्रम में सामरी विधायक चिंतामणी महाराज, सीतापुर विधायक अमरजीत भगत, लुण्ड्रा विधायक डॉ. प्रीतम राम, भटगांव विधायक पारसनाथ राजवाड़े, सरगुजा सांसद कमलभान सिंह, नगर निगम अम्बिकापुर के महापौर डॉ. अजय तिर्की, नगर निगम अम्बिकापुर के सभापति शफी अहमद,

उप महापौर अजय अग्रवाल, मुख्यमंत्री के संयुक्त सचिव टामन सिंह सोनवानी, सरगुजा संभाग के कमिश्नर एके टोप्पो, सरगुजा रेंज के पुलिस महानिरीक्षक हिमांशु गुप्ता, पुलिस अधीक्षक टीआर कोशिमा उपस्थित थे।

पहली बार किसान बेटा बना है सीएम
रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार किसान का बेटा मुख्यमंत्री बना है। उन्होंने कहा कि 25 सौ रूपये क्विंटल की दर से धान की खरीदी की जा रही है जिससे किसानों के जीवन में समृद्धि आएगी और उनके सपने पूरे होंगे। बृहस्पत सिंह ने स्थानीय समस्याओं की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए बलरामपुर-रामानुजगंज राष्ट्रीय राजमार्ग की मरम्मत कराने की मांग की।

इसके साथ ही तातापानी में सामुदायिक भवन का निर्माण कराने, वनांचल के रजबंधा से पिपराही मार्ग, चन्दौरा से चलगली मार्ग, बाहरचुरा से भीतरचुरा, पीपरपान से गाजर मार्ग में घाट कटिंग कराने की मांग की, जिससे दूरस्थ वनांचल क्षेत्रों में भी आवागमन की सुविधा उपलब्ध हो सके। इस अवसर पर बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के कलेक्टर हीरालाल नायक ने अतिथियों का स्वागत करते हुये प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।


सरगुजा संभाग में सड़कों की स्थिति काफी खराब
मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार, जनता की सरकार है और यह किसान, गरीब, मजदूर और सभी वर्गों की सरकार है और छत्तीसगढ़ के विकास के लिये सभी को मिलकर सरकार चलाना है। उन्होंने कहा कि सरगुजा संभाग में सड़कों की स्थिति बहुत खराब है, जिन्हें सुधारने की आवश्यकता है।


बिजली बिल भी करेंगे हाफ
मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली बिल हाफ करने का भी काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शराब बंदी अचानक नोटबंदी की तरह नहीं की जाएगी, बल्कि जनता से विचार-विमर्श कर और जनजागृति लाकर शराब बंदी की जाएगी। उन्होंने कहा कि अब शासकीय विभागों में जेम के माध्यम से नहीं बल्कि सीएसआईडीसी के माध्यम से कार्यालयीन उपयोग की सामग्रियों की खरीदी की जाएगी।


तातापानी मंदिर में की पूजा
मुख्यमंत्री ने तातापानी में आने के बाद सर्वप्रथम तातापानी स्थित शिव मंदिर में पूजा अर्चना कर बलरामपुर-रामानुजगंज जिले सहित छत्तीसगढ़ की जनता की खुशहाली की कामना की। इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव, रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह, सीतापुर विधायक अमरजीत भगत ने भी मंदिर में पूजा अर्चना की।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned