जिला जेल में कोरोना पॉजिटिवों की संख्या 26 से बढक़र पहुंची 196, दो जेल प्रहरी भी संक्रमित

Covid-19: क्षमता से दोगुना से भी अधिक बंदी रखे गए हैं रामानुजगंज स्थित जेल में, देर रात तक चली कोरोना (Corona) संक्रमण की जांच

By: rampravesh vishwakarma

Published: 19 Oct 2020, 12:50 AM IST

रामानुजगंज. जिला जेल रामानुजगंज में जिले का अब तक का सबसे बड़ा कोरोना विस्फोट हुआ है। दो प्रहरी व १९६ बंदी कोरोना पॉजिटिव (Covid-19) पाए गए हैं। इससे प्रशासन (Administration) में हडक़ंप मचा हुआ है। वहीं अभी भी अन्य बंदियों की रिपोर्ट आना बाकी है।

बंदियों के कोरोना पॉजीटिव पाए जाने के बाद शनिवार को जहां कलक्टर श्याम धावडे स्वास्थ्य अमले के साथ निरीक्षण में आए थे। वहीं रविवार को सेंट्रल जेल (Central jail) के अधीक्षक राजेंद्र गायकवाड ने भी जेल में बने कोविड-19 सेंटर का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

Read More: हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदी की मौत, Central जेल में टहलते हुए गिरा


शनिवार को बलरामपुर-रामानुजगंज जिला जेल में जहां 26 बंदी कोरोना पॉजिटिव (Covid-19) पाए गए थे, वहीं रविवार को यह आंकड़ा बढक़र 198 हो गया है। इसमें 196 बंदी व २ जेल प्रहरी शामिल हैं। अचानक जिला जेल में हुए कोरोना विस्फोट से जेल प्रशासन में हडक़ंप मचा हुआ है।

बंदियों में कैसे संक्रमण फैला, अभी तक इसका पता नहीं चल सका है। जेल प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए विशेष एहतियात बरती जा रही है। विकासखंड स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. कैलाश एवं जिला जेल के नोडल अधिकारी बनाए गए डॉक्टर शरद चंद्र गुप्ता के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा कोरोना पॉजीटिव मरीजों की सतत निगरानी की जा रही है।

जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बसंत ने कहा कि जिन कोरोना पॉजिटिव विचाराधीन बंदियों की उम्र ज्यादा है एवं हाइपरटेंशन व शुगर के मरीज हैं। उन्हें कलक्टर के मार्गदर्शन में आरागाही कोविड 19 केयर सेंटर भेजे जाने पर विचार किया जा रहा है।

Read More: हाफ मर्डर के विचाराधीन बंदी की अस्पताल में मौत


रात 2 बजे तक चला कोरोना टेस्ट
जिला जेल में 26 कोरोना पॉजिटिव मरीज आने के बाद शनिवार की शाम 6 बजे से लेकर रात्रि 2 बजे तक स्वास्थ्य विभाग कि टीम द्वारा कोरोना टेस्ट (Corona test) किया गया। इसके बाद मरीजों का आंकड़ा बढक़र 198 हो गया। इसमें दो प्रहरी भी शामिल हैं।

वहीं इस संबंध में कलक्टर श्याम धावड़े ने कहा कि जेल (District jail) के अंदर ही दो बैरक अलग से कर वहां पॉजिटिव बंदियों को क्वारेंटाइन किया जा रहा है। डॉक्टरों की टीम द्वारा सतत निगरानी की जा रही है।

COVID-19
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned