छत्तीसगढ़ राज्य बने 19 साल हो गए लेकिन यहां के लोग आज भी पी रहे नाले का गंदा पानी

Dirty water: चुनाव के समय गांव में नेता वोट (Vote) मांगने के बाद आश्वासन देकर चले जाते हैं लेकिन समस्या दूर करने कोई नहीं आया आगे, एसडीएम से लेकर सरपंच तक ने दिया सिर्फ आश्वासन

By: rampravesh vishwakarma

Published: 28 Sep 2020, 05:33 PM IST

बसंतपुर. छत्तीसगढ़ राज्य को बने 20 वर्ष पूरे होने को हैं, पंचायतों में पेयजल की व्यवस्था के लिए सरकार हर वर्ष करोड़ों रुपए फूंक रही है, फिर भी कई ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी शुद्ध पेयजल (Pure water) के लिए लोग तरस रहे हैं। लोग आज भी ढोढ़ी, नाले व नदी का गंदा पानी (Dirty water) पीने को विवश हैं।

वहीं खुद को जनप्रतिनिधि कहलाने वाले लोग भी इनका दुख-दर्द नहीं समझते हैं। ऐसे लोगों को चुनाव के समय सिर्फ इन लोगों के वोट से मतलब होता है।

चुनाव के समय ये आश्वासन देते हैं कि उनके जीतते ही उनकी समस्या दूर कर दी जाएगी, लेकिन चुनाव खत्म होने के बाद 5 साल का फिर इंतजार बढ़ जाता है और समस्याएं जस की तस बनी रहती हंै।

ये भी पढ़े: अधिकारी पी रहे मिनरल वाटर और शहरवासियों को मिल रहा गंदा पानी, जिपं की बैठक में गरमाया मुद्दा


इस तरह की ही स्थिति बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत झापर के कारीमाटी की है। यहां आज भी लोग नाले का गंदा पानी (Dirty water) पीने को मजबूर हैं।

19 साल की लंबी मांग के बावजूद आज तक न तो इन्हें कुआं मिल सका और न ही नाली। हैंडपंप न होने के कारण ग्रामीण पेयजल की सुविधा के लिए तरस रहे हैं। ग्रामीण अब मायूस हो चुके हैं, उनका अब पंचायत के ऊपर से भरोसा उठ गया है।

ये भी पढ़े: वाटर फिल्टर प्लांट में गंदगी देख भडक़ उठीं कलक्टर, जिम्मेदारों को सुनाईं खरीखोटी


एसडीएम से लेकर सरपंच तक दे चुके हैं आश्वासन
इस मामले में जब सरपंच से चर्चा की गई तो उन्होंने स्वीकार किया कि कारीमाटी के निवासी नाले का गंदा पानी पीते हैं। जब उनसे पूछा गया कि पेयजल (Water) की व्यवस्था अब तक क्यों नहीं हो सकी तो सरपंच ने कोरोना काल का बहाना बना दिया। वहीं एसडीएम ने पहुंचविहीन क्षेत्र बताकर बरसात के बाद हैंडपंप (Handpump) के लिए बोरिंग कराने का आश्वासन दिया।


इतने साल गुजर गए, क्यों नहीं हुई पानी की व्यवस्था
ग्रामीणों ने कहा कि अधिकारी कह रहे हैं कि बरसात के बाद पानी की व्यवस्था की जाएगी तो इतने साल गुजर गए, आज तक व्यवस्था क्यों नहीं की गई।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned