एसडीएम दफ्तर घेरा, समिति में ताला भी जड़ा लेकिन.., अब बिना खाद ही रोपा लगा रहे किसान

Farmers: किसानों का कहना कि आंदोलन (Protest) कर भी देख लिया लेकिन नहीं सुलझी समस्या, रोपा (Planting) का समय भी पूरा हो चुका है, अब भगवान भरोसे कर रहे रोपा

By: rampravesh vishwakarma

Published: 03 Jul 2021, 09:52 PM IST

राजपुर. बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के राजपुर क्षेत्र के किसान बिना खाद के ही रोपा लगाने को विवश हैं। दरअसल राजपुर समिति में खाद की किल्लत (Shortage of Fertilizers) है।

इसे देखते हुए किसानों ने एसडीएम कार्यालय (SDM Office) घेरने से लेकर समिति में ताला भी जड़ दिया लेकिन उन्हें खाद नहीं मिला। इधर रोपा का समय भी खत्म हो चुका है ऐसे में किसान भगवान भरोसे बिना खाद ही रोपा लगा रहे हैं।

Read More: सरगुजा में यूरिया खाद न मिलने से मचा हाहाकार, संघर्ष ऐसा कि बहनें-बेटियां भी लग रहीं लाइन में, लौटना पड़ रहा मायूस


गौरतलब है कि राजपुर विकासखंड के किसान लगातार खाद की किल्लत से जूझ रहे हैं। खाद की कमी से लगातार परेशान किसानों ने उग्र रूप लेते हुए एसडीएम कार्यालय का घेराव किया तथा सहकारी समिति में ताला भी जड़ा, इसके बाद भी समस्या दूर होती नजर नही आ रही है।

किसान चिंतित रहने के साथ ही बगैर खाद के ही धान का रोपा लगाने को विवश हैं। यह चौंकाने वाला विषय है कि 5 सहकारी समिति में सबसे ज्यादा खाद की किल्लत से राजपुर सहकारी समिति के किसान जूझ रहे हैं। राजपुर समिति में खाद की किल्लत की मुख्य वजह किसानों ने समिति प्रबंधन को बताया है।

डांडख़डु़वा के किसान शिवमंगल यादव व अन्य ने बताया कि राजपुर के अलावा अन्य समिति के कृषकों को परेशानी कम होती है लेकिन राजपुर समिति के उचित प्रबंधन नही होने के कारण खाद के साथ अन्य कार्यों में भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Read More: 27 हजार रुपए कृषि ऋण पटाने का मिला नोटिस तो परेशान हो गया किसान, बोला- मैंने सोचा माफ हो गया होगा


भगवान भरोसे लगा रहे रोपा
क्षेत्र के कई किसानों ने बताया कि निवेदन के साथ आंदोलन भी करके देख चुके, अब भरोसा नही रहा इसलिए भगवान भरोसे धान का रोपा लगा रहे हैं। कई बार दौड़ लगाने के बाद सिर्फ यूरिया मिल पाया है और रोपा का टाइम पूरा हो चुका है, इसलिए बिना डीएपी के ही रोपा लगा रहे हैं।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned