मारपीट में बीच-बचाव करने जा रहे हों तो हो जाएं सावधान! आपके साथ भी हो सकता है ऐसा

किसान की हो रही पिटाई को देख बीच-बचाव करने पहुंचे ग्रामीण की हत्या, पुत्र-पुत्री समेत दंपती गिरफ्तार, भेजे गए जेल

By: rampravesh vishwakarma

Published: 13 Jul 2018, 05:24 PM IST

राजपुर. किसी के विवाद में बीच-बचाव करना कभी-कभी काफी महंगा पड़ जाता है। ऐसा ही एक मामला बलरामपुर थाना क्षेत्र के ग्राम बड़कीमहरी में देखने को आया। दो पक्षों के बीच हो रहे जमीन विवाद में बीच-बचाव करने पहुंचे ग्रामीण की हत्या लाठी-डंडे से पीटकर दूसरे पक्ष ने हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने पति-पत्नी व बेटा-बेटी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने चारों को जेल भेज दिया है। दरअसल आरोपियों ने खेत की जोताई कराने के विवाद में मृतक की लाठी-डंडे से बेदम पिटाई कर दी थी, इससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया था। उसे मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया था, यहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई थी।


गौरतलब है कि २३ जून को ग्राम बड़कीमहरी निवासी देवसाय पिता स्व. दिका चेरवा अपने हिस्से की खेत की ट्रैक्टर से जोताई करा रहा था। इसी दौरान वहां पहुंची जसपति खेत जुतवाने से मना करते हुए उससे विवाद करने लगी।

विवाद के बीच में महिला के पुत्र गुरूदेव प्रसाद, पुत्री चांदनी व पति मनोहर चेरवा डंडा लेकर वहां पहुंचे और चारों मिलकर देवसाय को पीटने लगे। इस बीच गांव का ही 58 वर्षीय ननेन्दर पिता ननकू राम चेरवा बीच-बचाव करने पहुंचा तो आरोपियों ने लाठी व हाथ-मुक्के से उसकी बेदम पिटाई कर दी और फरार हो गए।


मेडिकल कॉलेज अस्पताल में तोड़ा दम
मारपीट से ननेन्दर बुरी तरह जख्मी हो गया। उसे उपचार के लिए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां 25 जून को उसकी मौत हो गई।

इस मामले में बलरामपुर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मुखबिर की सूचना पर 11 जुलाई को आरोपी 55 वर्षीय मनोहर राम चेरवा उर्फ मनो पिता मेघन राम कोरवा, 25 वर्षीय गुरूदेव प्रसाद पिता मनोहर राम चेरवा, 23 वर्षीय चांदनी पिता मनोहर राम चेरवा व 51 वर्षीय जसपति देवी पति मनोहर राम चेरवा को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 302, 294, 506, 323 व 34 के तहत कार्रवाई कर न्यायालय में पेश किया। यहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।


कार्रवाई में ये रहे शामिल
कार्रवाई में निरीक्षक सीताराम धु्रव, एसआई श्रवण कुमार चौबे, संपत राम पोटाई, एएसआई राजेश कुमार, प्रधानआरक्षक शौकी लाल राज, आरक्षक नारद राजपूत, विनोद यादव, प्रेमप्रकाश सिंह, रूबेन लकड़ा, दिगंबर यादव, महेंद्र गुप्ता, रंजन सिंह, आलोक कुमार सिंह, बेलसाजर कुजूर, कृष्णा हालदार व अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned