scriptपहले तो विचाराधीन बंदी को मरने के लिए छोड़ा, जब अंतिम समय में मांगा पानी तो दी गाली | Negligence: Prisoner asked for water at the last moment, he was abused | Patrika News

पहले तो विचाराधीन बंदी को मरने के लिए छोड़ा, जब अंतिम समय में मांगा पानी तो दी गाली

Negligence: गंभीर हालत में डॉक्टरों (Doctors) द्वारा रेफर किए गए विचाराधीन बंदी को 17 घंटे तक स्थानीय अस्पताल (Hospital) में ही छोड़ा, दूसरे दिन हो गई मौत

बलरामपुर

Published: August 10, 2021 06:35:17 pm

Prisoner Sanjay Vishwakarma
Prisoner who die

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Top Categories

Trending Topics

Trending Stories

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.