24 दिन गुजर जाने के बाद भी यहां के 7 उपार्जन केंद्रों में धान खरीदी की रफ्तार धीमी

Paddy purchase center: यही रफ्तार रही तो खरीदी लक्ष्य (Purchase goal) से रह जाएंगे काफी पीछे, खरीदी केंद्रों (Purchase center) में संचालक मंडल के सदस्यों की लगातार उपस्थिति से उनकी भूमिका संदिग्ध

By: rampravesh vishwakarma

Published: 24 Dec 2020, 10:39 PM IST

राजपुर. राजपुर ब्लॉक के 7 धान उपार्जन केंद्रों में 24 दिन गुजर जाने के बाद भी खरीदी की रफ्तार धीमी (Slow down) है। लक्ष्य के अनुसार अब तक काफी कम खरीदी हुई है। अगर यही हाल रहा तो कई पंजीकृत किसान इस बार भी धान बेचने से वंचित हो जाएंगे। दिसंबर माह में कई दिन छुट्टी होने के कारण भी धान खरीदी प्रभावित हुई है।

जनवरी माह में भी छुट्टियां रहेंगी। वहीं अब तक जिस धीमी गति से धान की खरीदी हो रही है, ऐसे में पूरे पंजीकृत किसान (Farmers) अपना धान बेच पाएंगे या नहीं, यह एक बड़ा सवाल बना हुआ है।


बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के राजपुर ब्लॉक के सभी 7 उपार्जन केंद्रों (Paddy purchase center) में गिरदावरी के अनुसार धान की खरीदी लक्ष्य से पीछे चल रही है। वहीं सहकारी समिति (Co-operative society) में धान खरीदी के लिए नए बोरों का बंडल भी सड़ा-गला व फटा होने से किसानों व खरीदी केंद्र प्रबंधकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

धान खरीदी में संचालक मंडल की भूमिका भी संदिग्ध (Suspected) नजर आ रही है। खरीदी केंद्रों में हमेशा संचालक मंडल के सदस्य नजर आते हैं।


धान खरीदी में नहीं है कोई समस्या
समिति में जैसे-जैसे किसान आ रहे हैं, उन्हें धान बेचने (Paddy sold) के लिए टोकन उपलब्ध कराया जा रहा है। उपार्जन केंद्रों में धान खरीदी में कोई समस्या नहीं है। किसानों का नियमानुसार पूरा धान खरीदा जाएगा।
आरएस लाल, एसडीएम, राजपुर

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned