शर्मनाक: रेफर का कागज दिखाते रहे परिजन लेकिन पुलिस ने नहीं जाने दिया अस्पताल, जिंदगी-मौत से जूझ रही महिला ने तोड़ा दम

Shameful: चेकपोस्ट पर पुलिस ने रोक लिया, परिजनों ने डॉक्टरों द्वारा स्थानीय अस्पताल से रेफर की पर्ची दिखाई लेकिन ई-पास मांगने लगी पुलिस, रास्ते से लौटा दिया

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 02 Aug 2020, 08:01 PM IST

वाड्रफनगर. अस्पताल से रेफर किए जाने के बाद गंभीर रूप से बीमार महिला को उसका पति व अन्य परिजन इलाज के लिए अंबिकापुर ले जा रहे थे। इसी बीच रास्ते में चेकपोस्ट पर उन्हें पुलिस ने रोक लिया। पुलिस ई-पास दिखाने के बाद ही आगे जाने की अनुमति पर अड़ गई। (Shameful)

उन्होंने रेफर की पर्ची दिखाते हुए काफी मिन्नतें कीं लेकिन पुलिस ने उनकी एक न सुनीं और रास्ते से लौटा दिया। इधर परिजन महिला को लेकर घर लौट रहे थे कि रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। पुलिस की इस संवेदनहीन कार्यप्रणाली से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।


बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के वाड्रफनगर विकासखंड अंतर्गत ग्राम गैना निवासी रामधारी की पत्नी का इलाज वाड्रफनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा था। तबियत काफी बिगडऩे पर डॉक्टरों ने उसे अंबिकापुर के लिए रेफर कर दिया।

एंबुलेंस की व्यवस्था नहीं होने पर रामधारी ने निजी वाहन किराए पर लिया और परिजनों के साथ गंभीर हालत में पत्नी को लेकर अंबिकापुर के लिए निकल पड़ा। वह वाड्रफनगर-अंबिकापुर मार्ग पर ग्राम धोंधा के पास पहुंचा ही था कि बॉर्डर के चेकपोस्ट पर तैनात सूरजपुर पुलिस ने उन्हें रोक लिया। (Shameful)

पुलिस ने कहा कि ई-पास दिखाओ तब आगे जाने देंगे, इस पर महिला के परिजनों ने अस्पताल की रेफर पर्ची दिखाई और कहा कि एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण वे निजी वाहन से ले जा रहे हैं, उन्हें कृपया कर जाने दें, इसके बाद भी पुलिस ने उनकी एक न सुनीं। वे मिन्नतें करते रहे लेकिन पुलिस ने उन्हें वहां से लौटा दिया।


रास्ते में तोड़ा दम
पुलिस द्वारा अंबिकापुर अस्पताल जाने से रोक दिए जाने के बाद परिजन गंभीर हालत में महिला को लेकर घर लौट रहे थे। वे गांव से 10 किमी पहले ही थे कि रास्ते में महिला ने दम तोड़ दिया। (Shameful)

घटना से जहां गांव में शोक का माहौल है, वहीं पुलिस की इस कार्यप्रणाली को सुनकर ग्रामीणों में आक्रोश है। पति का कहना था कि यदि पुलिस ने उन्हें जाने दिया होता तो शायद वह पत्नी की जान बचा पाने में कामयाब हो जाता।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned