9 पुलिसकर्मियों को खुद का काटना पड़ गया चालान

9 पुलिसकर्मियों को लापरवाही और अनियमितता बरतने पर अपना ही चालान काटना पड़ा। इस कार्यवाई की जद में क्षेत्राधिकारी से लेकर एसएचओ और कान्स्टेबल तक शामिल हैं।

By: Abhishek Gupta

Published: 23 Jul 2020, 09:30 PM IST

बलरामपुर. आमतौर पर पुलिस अनियमितता के आरोप में सड़क पर चलने वाले लोगों का चालान करती है, लेकिन यदि अनियमितता के आरोप में पुलिस को खुद अपना ही चालान काटना पड़े तो? इसका संदेश दूर तक जाता है। कुछ ऐसा ही हुआ बलरामपुर में जहाँ 9 पुलिसकर्मियों को लापरवाही और अनियमितता बरतने पर अपना ही चालान काटना पड़ा। इस कार्यवाई की जद में क्षेत्राधिकारी से लेकर एसएचओ और कान्स्टेबल तक शामिल हैं।

एसपी देवरंजन वर्मा के निर्देश पर हुई इस कार्यवाई से पूरे पुलिस महकमे में हडकम्प मच गया है। कोरोना संक्रमण को देखते हुये पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर प्रतिदिन शाम 6 बजे से 8 बजे तक गरुणवाहिनी चेकिंग अभियान चलया जाता है। बुधवार की शाम एसपी के निर्देश पर सभी थानाक्षेत्रों में बाइक दस्ते ने चेकिंग अभियान शुरु किया। चेकिंग अभियान के दौरान क्षेत्राधिकारी समेत कई इंस्पेक्टर व अन्य पुलिसकर्मी लापरवाही व अनियमितता करते नजर आये। गौरा चौराहा थानाक्षेत्र में बाइक दस्ते पर सवार सीओ सिटी राधारमण सिंह बाइक पर पीछे बैठे है लेकिन न तो टोपी लगाये है और न ही हेल्मेट। पाँच अन्य पुलिसकर्मियों के सिर पर टोपी या हल्मेट न लगाने पर एसपी ने ई-चालान करने का आदेश दिया और सीओ सिटी से स्पष्टीकरण भी तलब किया। गैंसडी के प्रभारी निरीक्षक कमलेश कुमार चेकिंग के दौरान मास्क न लगाने वाले लोगो का चालान कर रहे हैं, लेकिन खुद मास्क नहीं लगाये है।

एसपी ने इंसपेक्टर कमलेश कुमार को खुद अपना कोरोना चालान कराकर रिपोर्ट तलब किया। एसपी की कार्यवाई से पूरे जिले मे हडकम्प मच गया है। एसपी ने कहा कि जिस लापरवाही के लिये पुलिस आम लोगो का चालान करती है उस लापरवाही से पुलिस को खुद बचाने के लिये यह कार्यवाई की गयी है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned