दबंगों से सीएमओ को जान का खतरा, सीएमओ ने डीएम-एसपी से लगाई सुरक्षा की गुहार

दबंगों से सीएमओ को जान का खतरा, सीएमओ ने डीएम-एसपी से लगाई सुरक्षा की गुहार

Akansha Singh | Publish: Aug, 02 2019 03:05:12 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बलरामपुर के जिला संयुक्त अस्पताल में दबंगो का खौफ इस कदर व्याप्त है कि छोटे कर्मचारी तो छोड़िये खुद सीएमओ दबंगो से अपनी जान का खतरा बता रहे है।

बलरामपुर. बलरामपुर के जिला संयुक्त अस्पताल में दबंगो का खौफ इस कदर व्याप्त है कि छोटे कर्मचारी तो छोड़िये खुद सीएमओ दबंगो से अपनी जान का खतरा बता रहे है। डाक्टरों से मारपीट और बदसलूकी का आलम यह है कि जिला अस्पताल दबंगों के खौफ के साये में जीने को मजबूर हैं। सीएमओ ने पुलिस-प्रशासन को पत्र लिखकर अपने सुरक्षा की गुहार लगाई है।

सीएम योगी की ड्रीम प्रोजेक्ट में है बलरामपुर का जिला संयुक्त अस्पताल। सीएम योगी ने इस अस्पताल को मेडिकल कालेज में शामिल करते हुये यहां केजीएमयू का सेटेलाइट सेन्टर स्थापित करने की मंजूरी दे दी है। लेकिन इस अस्पताल के डाक्टर और कर्मचारी दबंगो के आतंक से खौफ के साये में जी रहे है। आये दिन दबंग अस्पताल परिसर में घुसकर असलहो के साथ डाक्टरो से मारपीट करते है। तीन दिन पूर्व असलहो से लैस एक दबंग युवक ने अस्पताल के क्वालिटी मैनेजर रुचि पाण्डेय के साथ गाली-गलौज की और जान से मारने की धमकी दी। दबंग डाक्टरो पर अपने मनमाफिक दवा लिखने के लिये भी दबाव बनाते है। वही बुधवार की शाम सीएमओ कार्यालय में बैठक में पहुँचे एक दबंग युवक ने सीएमओ के साथ अभद्रता शुरु की। डाक्टरो ने जब विरोध किया तो डाक्टर सुजीत पाण्डेय के साथ मारपीट की गयी और उन्हे भी जान से मारने की धमकी दी गयी।

हद तो तब हो गयी जब सीएमओ ने दबंगो से अपनी जान का खतरा बताते हुये जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की गुहार लगाई है। हरकत में आयी पुलिस ने आनन-फानन में सीएमओ कार्यालय में मारपीट करने वाले दबंग युवक सत्यप्रकाश तिवारी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। यही नही कई अराजक तत्व संयुक्त जिला अस्पताल के परिसर में अनाधिकृत तरीके से रह रहे है और स्वास्थ्य विभाग ऐसे अराजक तत्वो से निपट पाने में खुद को अक्षम महसूस कर रहा है। जिला अस्पताल के डाक्टरो और कर्मचारियों का मानना है कि दबंगो की इस करतूत से पूरे अस्पताल में दहशत व्याप्त है और कभी भी कोई बडी घटना से इन्कार नही किया जा सकता।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned