आखिरकार वन विभाग की ट्रिक कामयाब हुई, चंगुल में फंस गया तेंदुआ

Balrampur Forest department Trick Successful cage Stuck Leopard - बलरामपुर के नील बाग पैलेस में एक माह से घूम रहा तेंदुआ आखिर पिंजरे में कैद हो गया

By: Mahendra Pratap

Published: 10 May 2021, 09:11 PM IST

बलरामपुर. Balrampur Forest department Trick Successful cage Stuck Leopard : बलरामपुर के नील बाग पैलेस में एक माह से घूम रहा तेंदुआ आखिर पिंजरे में कैद हो गया। वन विभाग, पकड़े गए तेंदुए को सुहेलवा वन्यजीव अभयारण्य में भेजने की तैयारी कर रहा है। लगभग एक माह पूर्व जंगल से भटक कर प्राकृतिक रास्तों से होता हुआ तेंदुआ नगर क्षेत्र में पहुंच गया था।

बलरामपुर में तेंदुए का शव मिलने से मचा हड़कंप, वन विभाग ने जांच शुरू की

दहशत का माहौल :- नगर के पश्चिमी क्षेत्र में बने नीलबाग पैलेस के अंदर आम के बाग और घनी झाड़ियों के बीच तेंदुआ रह रहा था। नीलबाग पैलेस के अंदर लगे जंगल को इसने अपना आरामगाह बना लिया था। लगातार तेंदुए के देखे जाने से आसपास के लोगों में दहशत का माहौल था। एक सप्ताह पूर्व तेंदुआ आबादी वाले क्षेत्र में दिखाई पड़ा था जिसके बाद से वन विभाग की टीम इसे पकड़ने में जुट गई थी। वन विभाग ने यहां अपना पिंजडा लगवाया था। शनिवार की रात तेंदुए ने पिंजरे में बांधे गए शिकार को अपना निवाला बना लिया था लेकिन फंदे में नहीं फंसा। रविवार की रात तेंदुआ पुनः पिजड़े के अंदर रखे गए शिकार को लेने पहुंचा और पिंजरे के गिरफ्त में आ गया। तेंदुए के पिंजड़े में फंसने के बाद बन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची। पिंजरे में कैद तेंदुए को सुरक्षित भारत नेपाल सीमा से सटे सुहेलवा वन्य जीव अभ्यारण में भेजा जा रहा है।

सुहेलवा के जंगलों में छोड़ दिया जाएगा : एसडीओ

वन विभाग के एसडीओ राम सिंह यादव ने बताया कि सूचना मिली थी कि बगीचे में ले लेपर्ड आया है। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर बाग में पिंजरा लगाया गया था। जिसमें रात में शिकार के तलाश में तेंदुआ पिंजडे में आया और कैद हो गया। मेडिकल के उपरांत उसे सुहेलवा के जंगलों में सुरक्षित छोड़ दिया जाएगा।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned