अब पुलिस मुखबिर योजना से रुकेंगे अपराध, अभिनव प्रयोग की शुरुआत

अब पुलिस मुखबिर योजना से रुकेंगे अपराध, अभिनव प्रयोग की शुरुआत

Akansha Singh | Updated: 05 Jul 2019, 11:58:10 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

बलरामपुर पुलिस ने पुलिस मुखबिर योजना चालू करके अपराध रोकने की दिशा में एक अभिनव प्रयोग की शुरुआत की है।

बलरामपुर. बलरामपुर पुलिस ने पुलिस मुखबिर योजना चालू करके अपराध रोकने की दिशा में एक अभिनव प्रयोग की शुरुआत की है। इस योजना के तहत पुलिस ने अपराधियों की सूचना देने वाले लोगों को ईनाम देने की घोषणा की है। इसके लिये जिला पुलिस गांव और कस्बों में न सिर्फ मुनादी करवा रही है बल्कि जगह-जगह पम्पलेट लगाकर लोग को जागरुक कर रही है।

सुनो….सुनो…सुनो….बलरामपुर के वासियों सुनो….। यह कोई फिल्मी पर्दे पर नजर आने वाला दृश्य नहीं है बल्कि बलरामपुर की पुलिस का अपराधियों पर नकेल कसने का एक अभिनव प्रयोग है। पुरानी परम्परा और नई टेक्नोलॉजी का सहारा लेकर जिले की पुलिस गांव-गांव और कस्बो-कस्बो में जाकर मुनादी कर रही है। मुनादी यह कि आम आदमी भी पुलिस का मुखबिर बनकर घर बैठे हजारे रुपये कमा सकता है। विभिन्न अपराधियों की सूचना देने वालो को पुलिस द्वारा आकर्षक इनाम दिया जायेगा। सूचना देने वालो की पहचान भी गुप्त रखी जायेगी। सूचना भी एसपी के सीयूजी मोबाइल नम्बर पर कोई भी आम नागरिक आपराधिक सूचना दे सकता है। पुलिस की इस पहल को लोग गम्भीरता से ले रहे है और इसकी सराहना भी कर रहे है।

सभी थाना क्षेत्रो में मुनादी कराने के साथ ही सार्वजनिक स्थलो पर पोस्टर भी लगाये गये है जिनमें एसपी की ओर से यह घोषणा की गयी है कि चोरी की बाइक और देशी कट्टा पकडवाने वाले को एक हजार, पिस्टल व रिवाल्वर पकडवाने वाले को पाँच हजार रुपये का इनाम दिया जायेगा। अन्य संगीन आपराधिक मामलो की जानकारी देने पर यह इनामी राशि और बढाई जा सकती है। इसमें मुखबिर का नाम-पता पूरी तरह गोपनीय रखा जायेगा।

एसपी देवरंजन वर्मा ने इस योजना के लागू करने में पुलिस की परम्परागत शैली और नई टेक्नालोँजी की बखूबी उपयोग किया है। इस योजना के परिणाम भी मिलने शुरु हो गये है। इसी योजना के तहत पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर 17 लाख रुपये कीमत की फैक्ट्रीमेड अवैध शराब पकडने में सफलता प्राप्त की है जिसकी सूचना देने वाले को एसपी ने दस हजार रुपये का ईनाम दिया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned